ताज़ा खबर
 

VIDEO: जोश में अरनब गोस्वामी ने सनी देओल को बना दिया सनी लियोनी, लोग ले रहे मजे

Election Results 2019: टीवी एंकर अरनब गोस्वामी जोश में सनी देओल को सनी लियोनी बोल बैठे। सोशल मीडिया पर लोग वीडियो शेयर कर उनके जमकर मजे ले रहे हैं।

सनी देओल और सनी लियोनी।

Lok Sabha Election Results 2019, Sunny Deol: बॉलीवुड एक्टर सनी देओल ने चुनाव में पंजाब की गुरुदासपुर लोक सभा सीट से बीजेपी के टिकट पर ताल ठोकी है। सनी देओल का मुकाबला कांग्रेस उम्मीदवार सुनील जाखड़ से है। जहां नतीजों के रूझान तेजी से सामने आ रहे हैं, ऐसे में टीवी एंकर अरनब गोस्वामी उत्साह में सनी देओल को सनी लियोनी बोल बैठे। सोशल मीडिया पर लोग वीडियो शेयर कर उनके जमकर मजे ले रहे हैं।

वीडियो में देख सकते हैं कि अरनब गोस्वामी कहते हैं कि सनी लियोनी, सनी देओल पांच हजार से ज्यादा वोटों से लीड कर रहे हैं। अरनब के जुबान फिसलने की वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हो गई है। सोशल मीडिया यूजर्स कमेंट सेक्शन में अपना रिएक्शन दे रहे हैं। एक यूजर ने लिखा- यह तब होता है जब आप बहुत ज्यादा पोर्न देखते हैं और बाद में तनाव पर ठिकरा फोड़ते हैं। एक अन्य यूजर ने लिखा- सनी लियोनी तो हमेशा ही लीड करती है। एक ट्विटर यूजर ने लिखा- जो भी यह पीता है वही मुझे भी चाहिए। एक सोशल मीडिया यूजर ने लिखा- सनी देओल से ज्यादा सनी लियोनी पॉपुलर है, अगली बार चुनाव में उसके नाम पर विचार करें।

सोशल मीडिया पर लोगों का रिएक्शन-

बता दें कि धर्मेंद्र को सनी देओल का सुनील के खिलाफ चुनाव लड़ना खल रहा है। धर्मेंद्र ने 21 मई को ट्विटर पर एक शायरी शेयर कर अपने दिल का हाल बयां किया था। धर्मेंद्र ने ट्वीट में लिखा था- ”सगों से रिश्ते इक ज़माने से, तोड़ गयी पलों में, कम्बख़्त सियासत.. बरक़रार है, बरक़रार रहेगी मोहब्बत मेरी मोहब्बत से… जाखड़ के नाम।”

धर्मेंद्र जब गुरूदासपुर सनी देओल के प्रचार के लिए गए थे तो उन्होंने कहा था कि उन्हें पहले पता होता कि गुरूदासपुर से सुनील लड़ रहे हैं तो वह कभी सनी को वहां से चुनाव नहीं लड़ने देते।

(और ENTERTAINMENT NEWS पढ़ें)

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Chunav Result 2019: 2014 में मतगणना वाले दिन Modi के इस ट्वीट ने बनाया था इतिहास