ताज़ा खबर
 

गुजरात चुनाव: ‘पप्पू’ के इस्तेमाल पर लगी रोक तो परेश रावल ने राहुल को कहा…

गौतम शर्मा का कहना है कि, 'कहीं लोग ऐसा ना समझ लें कि आपने पप्पू लिखा है ये परम पूज्य राहुल भाई है।'

बीजेपी सांसद परेश रावल फोटो सोर्स: You Tube

चुनाव आयोग ने गुजरात चुनाव प्रचार के दौरान ‘पप्पू’ शब्द के इस्तेमाल पर रोक लगा दी है। बीजेपी के एक विज्ञापन में पप्पू शब्द का इस्तेमाल किया गया था। चुनाव आयोग ने इस विज्ञापन को मर्यादा के खिलाफ बताया और इस शब्द को विज्ञापन से हटाने का आदेश दिया। चुनाव आयोग के इस आदेश के बाद बीजेपी सांसद और अपने तीखे व्यंग्य बाणों के लिए मशहूर परेश रावल ने कुछ अलग अंदाज में कांग्रेस उपाध्यक्ष पर निशाना साधा है। परेश रावल ने एक ट्वीट कर लिखा, ‘प.पु.राहुल भाई …।’ यूं तो पढ़ने में इस शब्द का उच्चारण पपू जैसा ही लगता है। लेकिन ट्विटर पर लोग इस शब्द की अलग अलग व्याख्या कर रहे हैं। सौरभ पांडे नाम के एक यूजर ने लिखा, ‘परम पूज्यनीय राहुल भाई उर्फ पप्पू।’ मयंक सेठी नाम के एक यूजर ने लिखा, ‘पपू की जगह आप पीडी लिख सकते हैं क्या।’ गौतम शर्मा का कहना है कि, ‘कहीं लोग ऐसा ना समझ लें कि आपने पप्पू लिखा है ये परम पूज्य राहुल भाई है।’

HOT DEALS
  • Samsung Galaxy J3 Pro 16GB Gold
    ₹ 7490 MRP ₹ 8800 -15%
    ₹0 Cashback
  • Samsung Galaxy J6 2018 32GB Black
    ₹ 12990 MRP ₹ 14990 -13%
    ₹0 Cashback

गुजरात चुनाव के लिए इस वक्त धुआंधार चुनाव प्रचार हो रहा है। बीजेपी और कांग्रेस दोनों ओर से सोशल मीडिया और चुनावी अभियानों में बयानों के तीर छोड़े जा रहे हैं। परेश रावल के इस ट्वीट पर एक यूजर ने प्रतिक्रिया देते हुए लिखा, ‘बाबू भाई आप भी इसी लिस्ट में शामिल में हो रहे है।’ एक यूजर ने लिखा, ‘आज पपू पास हो गया।’ एक यूजर ने लिखा, ‘आप पप्पू पप्पू कह कर राहुल गांधी के पीछे क्यों पड़े हैं, अगर विकास नहीं करेंगे तो जनता पप्पू बना देगी।’

इस बीच रिपोर्ट्स है कि गुजरात में चुनाव की तैयारियों और मिशन 150 के लक्ष्य को हासिल करने के लिये भाजपा कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती है, ऐसे में पार्टी नवंबर के चौथे सप्ताह से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की 25 से 30 रैलियां आयोजित कराने और शहरी क्षेत्र में रोड शो करने की योजना बनाई है ।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App