ताज़ा खबर
 

दिग्विजय सिंह इस फोटो के जरिए साध रहे थे योगी आदित्‍यनाथ और बीजेपी पर निशाना, मगर ऐसे उलट गया दांव

दिग्विजय का ट्वीट कई लोगों को पसंद नहीं आया और उन्‍होंने उनपर जातिवाद को बढ़ावा देने की तोहमत मढ़ दी।

दिग्विजय ने यह तस्‍वीर अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर कर बीजेपी पर जातिवाद को बढ़ावा देने का आरोप लगाया था। (Source: Twitter)

वरिष्‍ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह सोशल मीडिया पर लगातार भारतीय जनता पार्टी और इसके नेताओं को घेरने के प्रयास में लगे रहते हैं। कई बार अपने ट्वीट्स या पोस्‍ट्स की वजह से वह यूजर्स के निशाने पर आ जाते हैं। गुरुवार (8 जून) को दिग्विजय मध्‍य प्रदेश के मंदसौर में किसानों पर फायरिंग की घटना को लेकर राज्‍य की बीजेपी सरकार पर भड़के हुए थे। उन्‍होंने एक के बाद एक ट्वीट कर कहा, ”पहले मप्र के गृह मंत्री -“पुलिस ने गोली ही नहीं चलाई” फिर, मप्र सरकार का बयान-“पुलिस ने आंदोलनकारी असामाजिक तत्वों पर गोली चलाई”। अगर असामाजिक तत्व थे तो मुआवज़ा क्यों ? जो किसान शहीद हुए उन पर पूर्व का पुलिस रिकॉर्ड था क्या ? शिवराज जी सभी शुद्ध किसान थे। शिवराज जी थोड़ी सी भी शर्म हो तो इस्तीफ़ा दे दो। अपने आप को किसान का बेटा कहते हो और निहत्थै किसानों पर गोली चलाते हो। घोर कपूत बेटे हो।” इसके बाद दिग्विजय ने एक तस्‍वीर ट्वीट की, जिसमें उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ, उप-मुख्‍यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य तथा दिनेश शर्मा बैठे दिख रहे हैं। इस फोटो में योगी और शर्मा को कुर्सी पर बैठे हैं, मगर मौर्य एक स्‍टूल पर बैठे दिख रहे हैं। दिग्विजय ने फोटो के साथ लिखा है, ”ठाकुर मुमं ब्राम्हण उपमुमं को कुर्सी और पिछड़ा वर्ग उपमुमं को प्लास्टिक का स्टूल! यही है भाजपा का सोच मौर्य जी!”

दिग्विजय का यह ट्वीट कई लोगों को पसंद नहीं आया और उन्‍होंने उनपर जातिवाद को बढ़ावा देने की तोहमत मढ़ दी। कई लोगों ने कांग्रेस नेताओं की ऐसी ही तस्‍वीरें निकालकर सामने रख दीं। इनमें राहुल गांधी, सोनिया गांधी की फोटोज विशेष रूप से साझा की गईं। हालांकि कुछ तस्‍वीरों से छेड़छाड़ भी की गई थी। ऋषिता मिश्रा ने लिखा, ”जातिवाद का जहर भर के कैसे राजनीति की जाती है कोई आपसे सीखे।” प्रकाश ने कहा, ”आज तक कांग्रेस नें इसी तरह समाज का बंटवारा किया है तभी तो जनता ने लात मारी है।” एक अन्‍य यूजर ने सीताराम केसरी का किस्‍सा या दिलाते हुए लिखा, ”सीताराम केसरीजी को तो अपने प्लास्टिक स्टूल भी नहीं दिया , उल्टा उनको मारपीट की।”

देखें लोगों की प्रतिक्रियाएं: