ताज़ा खबर
 

नोट बदलवाने बैंक पहुंची हीरा बा, ट्विटर यूजर्स ने पूछा- 96 साल की मां की जगह मोदी क्‍यों नहीं खड़े हो गए?

कुछ यूजर्स ने इस बात पर हैरानी जताई है कि बेटों के होते हुए हीरा बा को बैंक जाने की जरूरत क्‍यों पड़ी।
ट्विटर पर कुछ यूजर्स ने इसे ‘स्‍टंट’ बताया है।

देश भर में 500, 1000 रुपए के नोट बंद होने के बाद से अफरातफरी मची है। इस बीच मंगलवार को पीएम नरेंद्र माेदी की मां हीरा बा गुजरात के गांधीनगर में नोट बदलने के लिए बैंक पहुंचीं। वह बैंक में 4500 रुपए लेकर पहुंची थीं। जिसके बदले में ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स की रायसेन शाखा के कर्मचारियों ने उन्हें 10 रुपए के नोटों की दो गड्डियां दीं। इसके अलावा उन्हें एक 500 रुपए का और एक 2000 रुपए का नोट भी मिला। लोगों के सहारे 96 वर्षीय हीरा बा बैंक पहुंची थीं। हीराबेन के बैंक जाने को लेकर सोशल मीडिया पर मिश्रित प्रतिक्रियाएं देखने को मिल रही हैं। कुछ लोगों ने हीरा बा के जज्‍बे की तारीफ की है और इसे उन लोगों के मुंह पर ‘तमाचा’ बताया है जो बैंकों व एटीएम के बाहर लाइन नहीं लगाना चाहते। वहीं कई यूजर्स ने इसे ‘पा‍ॅलिटिकल स्‍टंट’ होने का आरोप लगाया है। इसी बहाने पीएम मोदी पर निशाना साधने की भी कोशिश हुई है। हीरा बा की इस बैंक विजिट का जिक्र करते हुए कुछ यूजर्स ने राहुल गांधी का जिक्र किया है। गौरतलब है कि कुछ दिन पहले कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी भी नोट बदलने के लिए दिल्‍ली के एक बैंक पहुंचे थे।

राहुल गांधी 4000 रुपए के नोट बदलवाने गए थे। वहां मीडिया से बातचीत में उन्‍होंने कहा था कि ‘मीडिया और मोदी को समझ में नहीं आएगा कि आम लोगों को कितनी दिक्कत हो रही है।’ राहुल गांधी के बयान का सोशल मीडिया पर खूब मजाक बनाया गया था और इसे ‘बैंक टूरिज्‍म’ की संज्ञा कुछ यूजर्स ने दी थी।

Narendra Modi, Modi Mother, Heeraben Modi, Demonetisation, Narendra Modi Family, Loksabha Elections 2014, Modi with Mother, Modi Birthday, Note Ban, India, Jansatta जन्‍मदिन के मौके पर मां से आशीर्वाद लेते पीएम मोदी। (Photo: PTI)

ट्विटर पर कुछ यूजर्स ने इस बात पर हैरानी जताई है कि बेटों के होते हुए हीरा बा को बैंक जाने की जरूरत क्‍यों पड़ी। एक यूजर ने लिखा, ”अगर 94 साल की हीराबेन मोदी जैसी मां को इतनी छोटी रकम बदलने के लिए ख्‍ुाद बैंक जाना पड़े तो उनके बेटे-बेटियों को ख्‍ुाद पर शर्म आनी चाहिए।’