scorecardresearch

8 साल सरकार चलाने के बाद कश्‍मीर‍ियों के ल‍िए कुछ करने के बजाय फ‍िल्‍म का प्रचार कर रही BJP- अरव‍िंद केजरीवाल का भाजपा पर वार

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने The Kashmir Files के बहाने मोदी सरकार को घेरा है।

haryana assembly, chandigarh, jjp, bjp, dushyant chautala, manohar lal Khattar
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (image source: PTI)

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कश्मीरी पंडितों पर बनी फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ (The Kashmir Files) का जिक्र करते हुए एक बार फिर बीजेपी पर निशाना साधा है। उन्होंने मोदी सरकार पर भी हमला बोला और कहा कि आठ साल सरकार चलाने के बाद कश्‍मीर‍ियों के ल‍िए कुछ करने की बजाय बीजेपी फ‍िल्‍म का प्रचार कर रही है।

केजरीवाल से जब उनके ‘द कश्मीर फाइल्स’ को झूठी पिक्चर करार देने वाले बयान को लेकर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि यह सच है कि कश्मीरी पंडितों ने जो झेला है वो अकल्पनीय है, कईयों की जानें गई हैं। टाइम्स नाउ पर इंटरव्यू के दौरान एंकर नाविका कुमार ने उनसे कहा कि आपके बयान से तमाम लोगों को ठेस पहुंची है, खासकर कश्मीरी हिंदुओं को। क्या ये सच नहीं है कि उनका पलायन नही हुआ?

8 साल कुछ नहीं किया…: इस पर अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इसको (मेरे बयान को) को गलत तरीके से पेश किया गया। कश्मीरी हिदुओं के साथ बहुत बड़ा अन्याय हुआ, वो त्राषदी थी। कई लोगों की जान गई और कई लोगों को अपना घर छोड़ना पड़ा। इस घटना को 30-32 साल हो गए, इसमें 5 साल वाजपेयी की सरकार रही केंद्र में। पिछले 8 सालों से बीजेपी की सरकार है। एक संवेदनशील सरकार की जिम्मेदारी थी कि उस अन्याय से पीड़ित लोगों को न्याय दिलाते, पुनर्वास की व्यवस्था करते…जमीन दिलाकर अच्छी व्यवस्था करते।

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि 8 साल केंद्र की सरकार चलाने के बाद बीजेपी वाले एक फिल्म का प्रमोशन कर रहे हैं। मैं सिर्फ यही कहने की कोशिश कर रहा था। कश्मीर से पलायन के बाद साल 1993 में दिल्ली में वहां के 233 लोग संविदा पर टीचर नियुक्त हुए थे। तब से लेकर अब तक दिल्ली में बीजेपी की भी सरकार आई और कांग्रेस की भी, लेकिन उन्होंने उनके लिए कुछ नहीं किया। जब हमारी सरकार आई तो हमने उन्हें पक्का किया। हमने उनका काम किया…उनके उपर पिक्चर नहीं बनाई।

बिहार विधानसभा में हंगामा, टिकट फाड़े: बिहार विधानसभा में भी The Kashmir Files को लेकर घमासान देखने को मिला। शुरुआत मुख्य विपक्षी आरजेडी ने की। RJD विधायक मुकेश रोशन ने कहा कि नीतीश सरकार जनहित के मुद्दों पर ध्यान देने की जगह एक फिल्म को टैक्स फ्री करने में लगी है। किसानों, व्यापारियों और बेरोजगारी जैसी समस्याओं पर उसका ध्यान ही नहीं है। आरजेडी के विरोध के बाद एक तरीके से पूरे विपक्ष ने मोर्चा खोल दिया।

लेफ्ट विधायक मनोज मंजिल द कश्मीर फाइल्स का टिकट लेकर आए थे। उन्होंने विधानसभा में ही टिकट फाड़ दिया। महबूब आलम ने नीतीश सरकार पर सदन के भगवाकरण का आरोप लगाते हुए तीखी टिप्पणी की। उन्होंने कहा कि उप-मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद फिल्म का नहीं बल्कि नफरत और सांप्रदायिक हिंसा का टिकट बांट रहे हैं।

BJP ने किया पलटवार: उधर विपक्ष के तीखे विरोध के बीज बीजेपी ने भी पलटवार किया। बीजेपी नेता हरिभूषण ठाकुर बचौल ने कहा कि आज धर्मनिरपेक्षता का झूठा लबादा ओढ़ने वालों का नकाब उतर गया। अगर इन लोगों को (टिकट फाड़ने वालों को) खून से सना चावल खिलाया जाए तो कैसा लगेगा? ये लोग उस दर्द को कभी नहीं समझ सकेंगे।

पढें ट्रेंडिंग (Trending News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट