Delhi CM Arvind Kejriwal reacted on verdict on 2G scam, asks- Did CBI mess up the case? Intentionally? - 2जी फैसले पर केजरीवाल बोले: क्या सीबीआई ने जानबूझकर गड़बड़ की? जवाब मिला- सब मिले हुए हैं सर जी - Jansatta
ताज़ा खबर
 

2जी फैसले पर केजरीवाल बोले: क्या सीबीआई ने जानबूझकर गड़बड़ की? जवाब मिला- सब मिले हुए हैं सर जी

केजरीवाल की इस टिप्पणी पर लोगों ने भी तरह-तरह की टिप्पणी देकर उन्हें ट्रोल किया है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (फाइल फोटो, सोर्स- AP)

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (आप) के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने 2जी घोटाले पर आए सीबीआई कोर्ट के फैसले पर आश्चर्य जताया है और सवालिया लहजे में पूछा है कि यूपीए का पतन कराने वाले इस घोटाले की जांच में क्या सीबीआई ने जानबूझकर गड़बड़ी की है? उन्होंने लिखा है, “2जी घोटाला बड़े घोटालों में एक है। इसने देश को हिला दिया था और यूपीए सरकार का पतन होने में बड़ी भूमिका निभाई थी। लेकिन आज उसके सभी आरोपी बरी हो गए। क्या सीबीआई ने इसका जांच में जान-बूझकर गड़बड़ी की है? जनता जवाब मांग रही है।” केजरीवाल की इस टिप्पणी पर लोगों ने भी तरह-तरह की टिप्पणी देकर उन्हें ट्रोल किया है।

एक यूजर ने लिखा है, “#2GScamVerdict क्या साबित करता है? बीजेपी कांग्रेस की एजेंट है, दोनों मिले हुए हैं। This reinstates My Faith.भ्रष्टाचार का एक ही काल, केजरीवाल केजरीवाल।” दूसरे यूजर ने लिखा है, “अरविंद केजरीवाल को बीजेपी कहती है कांग्रेस का ऐजेन्ट, कांग्रेस कहती हैं बीजेपी का ऐजेन्ट, सच यह हैं कांग्रेस बीजेपी आपस में ऐजेन्ट हैं “चोर चोर मौसेरे भाई।”

बता दें कि दिल्ली की सीबीआई कोर्ट ने गुरुवार (21 दिसंबर) को 1.76 लाख करोड़ रुपये के 2जी घोटाले के सभी आरोपियों को बरी कर दिया है। मनमोहन सिंह की यूपीए सरकार के समय स्‍पेक्‍ट्रम आवंटन में 1.76 लाख करोड़ रुपये के राजस्व का नुकसान होने की बात तत्कालीन सीएजी विनोद राय ने उठाई थी। तब विपक्ष ने इसे घोटाला कहा था। इसमें पूर्व दूरसंचार मंत्री ए. राजा और द्रमुक सांसद कनीमोई के अलावा अन्‍य को भी आरोपी बनाया गया था। आरोपियों के खिलाफ सीबीआई के साथ ही प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने भी मामला दर्ज किया था। सीबीआई की चार्जशीट पर विशेष अदालत ने वर्ष 2011 में मामले के 17 आरोपियों के खिलाफ आरोप तय किए थे।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App