ताज़ा खबर
 

ट्रोल को बीजेपी प्रवक्ता का जवाब: 7-8 साल पहले ठेला ही लगाता था

तजिन्दर बग्गा कर्नाटक में पार्टी के काम से गये थे। यहां पर उन्होंने कर्नाटक सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि राज्य की कंस मामा सरकार अपनी उल्टी गिनती गिनना शुरू कर दे। इस बयान से जुड़ा वीडियो उन्होंने ट्वीट किया और लिखा, 'कंस तब भी हारा था, अब भी हारेगा।' इस पर एक यूजर ने लिखा कि कर्नाटक में पकौड़े का ठेला लगाएगा क्या?

पीएम नरेंद्र मोदी के साथ दिल्ली बीजेपी के प्रवक्ता तजिन्दर बग्गा। (फाइल फोटो)

बीजेपी के चर्चित नेता तजिन्दर पाल सिंह बग्गा ने एक ट्विटर पर ट्रोल करने वाले एक शख्स को जवाब देते हुए कहा है कि वह सात-आठ साल पहले दिल्ली में ठेला लगाकर ही अपनी रोजी-रोटी चलाते थे। बग्गा ने कहा कि वह तिलक नगर में कपड़े का ठेला लगाते थे और भाजपा में ही यह संभव है कि एक ठेला लगाने वाले को इतना सम्मान दिया जाए। दरअसल तजिन्दर बग्गा कर्नाटक में पार्टी के काम से गये थे। यहां पर उन्होंने कर्नाटक सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि राज्य की कंस मामा सरकार अपनी उल्टी गिनती गिनना शुरू कर दे। इस बयान से जुड़ा वीडियो उन्होंने ट्वीट किया और लिखा, ‘कंस तब भी हारा था, अब भी हारेगा।’ इस पर एक यूजर ने लिखा कि कर्नाटक में पकौड़े का ठेला लगाएगा क्या? इस शख्स को जवाब देते हुए तजिन्दर बग्गा ने लिखा, ‘मैं पहले ठेला ही लगाता था कपड़े का, ज्यादा नही आज से 7-8 पहले तिलक नगर में । और भाजपा में ही संभव है कि एक ठेले लगाने वाले का ये सम्मान।’ बता दें कि तजिन्दर पाल सिंह बग्गा इस वक्त दिल्ली बीजेपी के प्रवक्ता हैं और पार्टी के कामों में काफी सक्रिय रहते हैं। हाल ही में वह गुजरात में पार्टी की ओर से प्रचार करने भी गये थे। अब वह कर्नाटक में सक्रिय हैं। कर्नाटक में इस साल विधानसभा चुनाव होने हैं।

बता दें कि पकौड़े के ठेले का जिक्र प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी जी न्यूज को दिये इंटरव्यू में किया है। इस साल के पहले इंटरव्यू में जब पीएम मोदी को रोजगार सृजन से जुड़े सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि अगर Z टीवी के बाहर कोई व्यक्ति पकौड़ा बेच कर कमाई कर रहा है तो इसे आप रोजगार की श्रेणी में गिनेंगे या नहीं। पीएम मोदी ने कहा कि छोटे व्यवसाय करने वाले भी रोजगार पैदा कर रहे हैं और इसका सम्मान किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि अगर कोई राजनीतिक कारणों से बयानबाजी करता है तो वो उनका हक है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App