ताज़ा खबर
 

पटाखा बैन वाली दिल्ली में बीजेपी प्रवक्ता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा ने बच्चों को बांटे पटाखे, शेयर किया विडियो

दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण के कारण सुप्रीम कोर्ट दिल्ली एनसीआर में 1 नवंबर तक पटाखों की बिक्री पर रोक लगा चुका है।

तेजिंदर पाल सिंह बग्गा बच्चों को पटाखे बांटते हुए।

सुप्रीम कोर्ट के ऑर्डर के बाद पूरे दिल्ली एनसीआर में पटाखों पर रोक लगा दी गई है। दिल्ली एनसीआर में बढ़ते वायु प्रदूषण को ध्यान में रखते हुए दिल्ली एनसीआर में पटाखें बैन के अपने फैसले को जारी रखा जिस कारण इस साल दिवाली के दौरान दिल्ली में पटाखों की बिक्री पर रोक लगी हुई है। लेकिन दिल्ली बीजेपी के प्रवक्ता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा कोर्ट के इस आदेश से कुछ ज्यादा ही नाराज नजर आ रहे हैं। तेजिंदर पाल सिंह ने स्वयं ट्विटर पर एक वीडियो पोस्ट किया है जिसमें दिल्ली के हरिनगर में बच्चो को पटाखे बांटते हुए दिखाई दे रहे हैं। बग्गा पहले ही पटाखे बांटने की बात कहते आ रहे थे।

उन्होंने सोशल मीडिया पर एक ग्रुप भी बनाया था जिसमें उन्होंने पटाखों के लिए पैसे दान करने की मांग की थी। उन्होंने PAYTM पर एक अकाउंट भी बनाया था जिसमें करीब करीब 1.5 लाख रूपए जमा हो गए थे। अब इस तरह दिल्ली में पटाखें बांट कर बग्गा कानून का उल्लंघन तो कर ही रहे हैं साथ ही में बीजेपी के लिए भी असहज होने वाली स्थिति बना सकते हैं। उनकी इस कारनामें पर जम एक मीडिया ग्रुप ने उनका पक्ष जानना चाहा तो उन्होंने कहा कि,” मैंने दिल्ली के बाहर से पटाखें खरीदे हैं। जिन्हें मैंने बांटा है। आईआईटी की स्टडी कहती है कुल वायू प्रदुषण में पटाखों का योगदान सिर्फ 0.3 ही है। ” साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि सिर्फ हिन्दू त्योहारों को ही लक्ष्य बनाया जा रहा है।

HOT DEALS
  • Micromax Dual 4 E4816 Grey
    ₹ 11978 MRP ₹ 19999 -40%
    ₹1198 Cashback
  • Honor 7X Blue 64GB memory
    ₹ 16699 MRP ₹ 16999 -2%
    ₹0 Cashback

क्या है सुप्रीम कोर्ट का ऑर्डर

हर साल दिवाली के वक्त प्रदूषण का स्तर खतरनाक रूप से बढ़ने और वायु की गुणवत्ता पर उसके बुरे असर के मद्देनजर सुप्रीम कोर्ट ने 9 अक्टूबर को दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में एक नवम्बर 2017 तक पटाखों की बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App