डिबेट में घमासान: संबित पात्रा ने अवॉर्ड वापसी गैंग कह कर बुलाया, अतुल अंजान ने कहा- दीन दयाल उपाध्‍याय का हत्‍यारा - debate bjp sambit patra CPI Atul Anjan beef row award wapsi gang deen dayal upadhyay murderer - Jansatta
ताज़ा खबर
 

डिबेट में घमासान: संबित पात्रा ने अवॉर्ड वापसी गैंग कह कर बुलाया, अतुल अंजान ने कहा- दीन दयाल उपाध्‍याय का हत्‍यारा

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के प्रवक्ता संबित पात्रा और सीपीआई के नेता अतुल अंजान के बीच हुई बहस में दोनों ने एक दूसरे पर जमकर आरोप लगाए।

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा (PTI File Photo)

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के प्रवक्ता संबित पात्रा और सीपीआई के नेता अतुल अंजान के बीच हुई बहस में दोनों ने एक दूसरे पर जमकर आरोप लगाए। दोनों के बीच यह बहस अंग्रेजी चैनल इंडिया टुडे पर हुई थी। संबित पात्रा ने अतुल अंजान को ‘अवार्ड वापसी गैंग’ वाला कहकर बुलाया जिसपर अतुल अंजान ने संबित पात्रा से कहा कि बीजेपी दीन दयाल उपाध्याय की हत्यारी है। बहस में अतुल अंजान कहते हैं कि बीजेपी के लोग कानून को अपने हाथ में ले लेते हैं। इसपर संबित पात्रा कहते हैं विरोधी लोग सड़क पर गाय को काटकर खाते हैं और उनको चिढ़ाने का काम करते हैं।

संबित पात्रा यह भी कहते हैं कि जब भी सरकार कोई कानून लाती है तो कुछ लोग कहने लगते हैं कि यह असहिष्णुता है और फिर अवार्ड वापसी गैंग को बुला लेते हैं। संबित पात्रा अतुल अंजान को उस गैंग का ‘लीडर’ बताते हैं। जिसपर अतुल अंजान भी भड़क जाते हैं। अतुल अंजान नेपाल का जिक्र करते हुए बताने लगते हैं कि वहां कम्यूनिस्ट की सरकार होने के बावजूद 2015 में गाय को राष्ट्रीय पशु बनाया गया।

यह डिबेट केंद्र सरकार द्वारा उठाए गए कदम के बाद हुई हिंसा को लेकर हो रही थी जिसमें सूरज नाम के पीचडी कर रहे छात्र की पिटाई का मामला सामने आया था। कहा गया था कि उसने बीफ फेस्टिवल रखा था जिसके बाद उसकी पिटाई की गई। केंद्र सरकार ने मारने के लिए गाय की बिक्री पर रोक लगा दी थी। इस कदम का काफी विरोध हुआ।

केरल के कांग्रेस नेता का एक कथित वीडियो भी सामने आया था जिसके जरिए दावा किया गया कि उन्होंने सरेआम गाय का बछड़ा काटा। इसके अलावा कुछ नेताओं ने बीफ खाकर सरकार का विरोध किया था। हालांकि, सरकार के फैसले पर मद्रास हाई कोर्ट ने रोक लगा दी थी।

 

देखिए संबंधित वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App