ताज़ा खबर
 

आखिर क्रिकेटर मोहम्‍मद कैफ ने क्‍यों लिखा- मैं कोई शार्प शूटर नहीं, मुझे नहीं चाहिए इंसाफ

कैफ ने ट्विटर पर लिखा है कि उन्‍हें और उनके परिवार को सोशल मीडिया पर हुई गलतफहमी के बाद ढेरों कॉल्‍स आ रही हैं।
नाम एक जैसा होने से लोग गच्‍चा खा जाए और धड़ाधड़ सोशल मीडिया पर पोस्‍ट होने लगे। (Source: Twitter/Mohammad Kaif)

क्रिकेटर मोहम्‍मद कैफ खुद को कुछ लोगों द्वारा वांटेड क्रिमिनल समझ लिए जाने से खासे नाराज है। उन्‍होंने ट्विटर पर सफाई देते हुए ऐसे लोगों को आड़े हाथों लिया जो उन्‍हें गलतफहमी में बिहार में वांछित शार्प शूटर मोहम्‍मद कैफ समझ बैठे। सोशल मीडिया पर कई लोगों ने वांटेड मोहम्‍मद कैफ के सरेंडर करने पर क्रिकेटर कैफ के बारे में बात करनी शुरू कर दी। जिसके बाद कैफ को ट्विटर पर सफाई देनी पड़ी। कैफ ने बीबीसी हिंदी के ट्वीट का स्‍क्रीनशॉट भी लगाया है जिसमें लिखा है ‘पूर्व क्रिकेटर कैफ़ ने किया आत्‍मसमर्पण’। कैफ़ ने अपने ट्वीट में प्रकाशक को लताड़ लगाते हुए लिखा- ”कहाँ किया, कब किया, भारत के लिए कितने मैच खेला। हेडलाइन के लिए कुछ भी बकैती, हद कर दी आपने। ऐसे कोई पढ़ता नहीं क्या?” गौरतलब है कि बुधवार को पूर्व सांसद और डॉन मोहम्‍मद शहाबुद्दीन से जुड़ाव रखने वाले ‘मोहम्‍मद कैफ’ नाम के शार्प श्‍ूाटर ने आत्‍मसमर्पण किया था। नाम एक जैसा होने से लोग गच्‍चा खा जाए और धड़ाधड़ सोशल मीडिया पर पोस्‍ट होने लगे। कैफ ने ट्विटर पर लिखा है कि उन्‍हें और उनके परिवार को सोशल मीडिया पर हुई गलतफहमी के बाद ढेरों कॉल्‍स आ रही हैं।

कैफ ने लिखा, ”पिछले कुछ दिनों से मोहम्‍मद कैफ नाम के किसी शख्‍स के शार्प शूटिंग केस से जुड़े होने के बारे में खबर चल रही है। कुछ पत्रकारों ने मेरे भाई को फोन किया और पूछा, ”ये कैफ भाई ने क्‍या कर दिया’, किसी एजेंसी ने एक फोटो लगाई कि ”क्रिकेटर मोहम्‍मद कैफ को इंसाफ दो।” मुझे इंसाफ नहीं चाहिए भाई। सर, मेरा नाम माेहम्‍मद कैफ है और मैं वो शार्प शूटर नहीं हूं। मैं बंदूक से गोली नहीं चलाता, हालांकि गेंद से विकेट्स पर निशाना लगाने की कोशिश जरूर करता हूं। और ऐसा ही आने वाली घरेलू सीरीज में छत्‍तीसगढ़ की कप्‍तानी करते हुए करूंगा। शुभकामनाएं दीजिए मगर कंफ्यूजन को रोकिए। वो कहते हैं न कि हर मोहम्‍मद कैफ क्रिकेटर नहीं होता। जब शक हो तो पुख्‍ता जांच करनी चाहिए।”

READ ALSO: राहुल गांधी बोले- हमारी सरकार पर किसानों को भरोसा था, जवाब आया- इसीलिए 44 पर सिमट गए

शहाबुद्दीन को बीते दिनों 11 साल जेल में रहने के बाद रिहा किया गया था। शार्प शूटर कैफ की राज्‍य के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री और लालू के बेटे तेजस्‍वी प्रताप यादव के साथ तस्‍वीरें सामने आने से नीतीश सरकार की खासी किरकिरी हुई थी।

READ ALSO: BSNL ला रही मुफ्त-वॉयस कॉलिंग प्लान, रिलायंस जियो से भी सस्ता होगा दाम

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.