ताज़ा खबर
 

सुकमा के शहीदों पर गौतम गंभीर ने किया ट्वीट, नेताओं पर निकाली भड़ास

गौतम गंभीर पहले भी नक्सली हमलों पर अपनी संवेदना जता चुके हैं। पिछले साल 24 अप्रैल को सुकमा में हुए नक्सली हमले में शहीद 25 जवानों के बच्चों की पढ़ाई का खर्चा उठाने का जिम्मा गौतम गंभीर ने लिया था। तब गौतम गंभीर ने ट्ववीट कर कहा था कि हमारे देश के जवानों की जान इतनी सस्ती नहीं है, किसी ना किसी को इसकी कीमत चुकानी होगी।

गौतम गंभीर छत्तीसगढ़ के नक्सली हमलों पर पहले भी संवेदना जता चुके हैं।

छत्तीसगढ़ के सुकमा में नक्सली हमले में 9 जवान शहीद हो गये। क्रिकेटर गौतम गंभीर ने इस घटना पर गुस्सा जताया है, और टवीट कर नेताओं पर हमला किया है। बता दें कि सोमवार (11 मार्च) को नक्सलियों ने छत्तीसगढ़ जिले के किस्टराम के पलोड़ी में आईईडी ब्लास्ट कर एंटी लैंडमाइन वाहन को उड़ा दिया। इसमें केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की 212वीं वाहिनी के 9 जवान शहीद हो गए और 2 अन्य घायल हो गए।

इस घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए गौतम गंभीर ने लिखा, ” सरहद हो या सुक्मा, वर्दी के चिराग बुझते रहे पर खादी की लाल बत्तियों की चमचमाहट बढ़ती रही।” गौतम गंभीर ने इस घटना का शर्मनाक बताया है। गंभीर के इस ट्वीट पर ढेर सारी प्रतिक्रियाएं मिली हैं। इस ट्वीट को 15 सौ लोग रिट्वीट कर चुके हैं जबकि सात हजार लोग इसे लाइक कर चुके हैं। बता दें कि गौतम गंभीर नक्सली हमलों पर पहले भी चिंता जता चुके हैं।

बता दें कि गौतम गंभीर पहले भी नक्सली हमलों पर अपनी संवेदना जता चुके हैं।  पिछले साल 24 अप्रैल को सुकमा में हुए नक्सली हमले में शहीद 25 जवानों के बच्चों की पढ़ाई का खर्चा उठाने का जिम्मा गौतम गंभीर ने लिया था। तब गौतम गंभीर ने ट्ववीट कर कहा था कि हमारे देश के जवानों की जान इतनी सस्ती नहीं है, किसी ना किसी को इसकी कीमत चुकानी होगी। गौतम गंभीर ने पिछले साल उस घटना के बाद एक के एक कई ट्वीट किये थे। उन्होंने कहा था कि हम अपनी SUV और एयरकंडीशनर के छोटे साइज की बहुत चर्चा करते हैं, थोड़ी सी चर्चा नक्सली हमले में शहीद इन जवानों की बेटियों की बारे में की जाए।

बता दें कि इस बार गौतम गंभीर दिल्ली डेयर डेविल्स की ओर से आईपीएल खेलने वाले हैं। क्रिकेटर गौतम गंभीर की सामाजिक कामों में काफी दिलचस्पी है। वह एक संस्था भी चलाते हैं। इसी संस्था ने सुकमा में नक्सली हमले में शहीद हुए जवानों की बेटियों की पढ़ाई का खर्चा उठाने का जिम्मा लिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App