ताज़ा खबर
 

‘तुम गौमूत्र पियो और थाली बजाओ’, BJP आईटी सेल चीफ अमित मालवीय को अनुराग कश्यप ने किया ट्रोल

Coronavirus Lockdown: अनुराग ने मालवीय के ट्वीट के जवाब में लिखा- यह देखो फिर आ गया झूठों का सरदार। इस स्प्रे औऱ बरेली वाले स्प्रे में काफी अंतर है। तुम्हारी गोबरबुद्धी को नहीं समझ आएगा, जाने दो। तुम गौमूत्र पियो और थाली बजाओ।

Author Published on: March 31, 2020 9:41 AM
कोरोना: बरेली में लोगों पर केमिकल छिड़काव पर बीजेपी के अमित मालवीय पर बरसे अनुराग कश्यप।

फिल्म मेकर अनुराग कश्यप सोशल मीडिया में काफी एक्टिव रहते हैं। वह आए दिन सामाजिक औऱ राजनीतिक मुद्दों पर खुलकर अपनी बात रखते हैं। अपनी बात रखते हुए वह सीधे तौर पर प्रधानमंत्री या फिर देश के गृहमंत्री पर भी निशाना साधने से नहीं चूकते। एक बार फिर से ऐसा ही कुछ हुआ है। इस बार उनके निशाने पर आए हैं बीजेपी आईटी सेल प्रमुख अमित मालवीय। अनुराग कश्यप ने अमित मालवीय को उनके एक ट्वीट पर गौमूत्र पीने और थाली बजाते रहने की सलाह देते हुए चुटकी ली है।

दरअसल हुआ ये कि सोमवार 30 मार्च को यूपी के बरेली का एक वीडियो सुर्खियों में आया जहां दिल्ली, हरियाणा, नोएडा से आए सैकड़ों मजदूरों, महिलाओं और छोटे बच्चों को जमीन पर बैठाकर उनके ऊपर डिसइंफेक्ट दवाई का छिड़काव किया गया।  इस वीडियो पर खूब बवाल हुआ। मीडिया से लेकर सोशल मीडिया तक में लोगों ने यूपी सरकार को कटघरे में खड़ा किया।

इसी पर बीजेपी आईटी सेल के चीफ अमित मालवीय ने एक अन्य वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा-  ये केरल का वीडियो है जिसमें दिख रहा है कि दूसरे राज्यों से आए लोगों पर छिड़काव किया जा रहा है। लेकिन लोगों को यूपी की घटना पर ही गुस्सा आ रहा है क्योंकि वहां भगवाधारी संत राज्य के लोगों की भलाई करने में लगा हुआ है। 

 

अमित मालवीय के इसी ट्वीट पर अनुराग कश्यप ने निशाना साधा। अनुराग ने मालवीय के ट्वीट के जवाब में लिखा- यह देखो फिर आ गया झूठों का सरदार। इस स्प्रे औऱ बरेली वाले स्प्रे में काफी अंतर है। तुम्हारी गोबरबुद्धी को नहीं समझ आएगा, जाने दो। तुम गौमूत्र पियो और थाली बजाओ।

 

अनुराग ने दो स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए ये भी बताया कि दोनों स्प्रे में क्या फर्क था। अनुराग ने बताया कि बरेली में लोगों पर जो केमिकल स्प्रे किया गया था वो सोडियम हाइपोक्लोराइट था जो कि शरीर के लिए नुकसानदायक होता है और केरल में जो स्प्रे किया गया वो कैलशिय़म हाइपोक्लोराइट था जो मानव शरीर को साफ करने के लिए होता है।

बता दें कि बरेली वाली घटना पर यूपी प्रशासन की तरफ से भी अपनी गलती मानी गई है। जिले के डीएम ने इसपर गलती मानते हुए कहा है कि बरेली नगर निगम एवं फायर ब्रिगेड की टीम को बसों को सैनेटाइज़ करने के निर्देश थे, पर अति सक्रियता के चलते उन्होंने ऐसा कर दिया। संबंधित लोगों के खिलाफ जांच के आदेश भी दिए गए हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कोरोना: तो क्या सुधीर मिश्रा की हुई पुलिस से पिटाई? वायरल वीडियो पर डायरेक्टर ने तोड़ी चुप्पी
2 ‘मंदिर-मस्जिद चाहिए या अस्पताल?’, कोरोना के माहौल में ये सवाल पूछ ट्रोल हुए एक्टर ऐजाज खान
3 ‘लातों के भूत बातों से नहीं मानते’, शाहीन बाग खाली होने पर VHP नेता ने कहा, म‍िल रहे ऐसे जवाब