ताज़ा खबर
 

राहुल गांधी ने वित्त मंत्री पर फिर किया शायरी से हमला, बोले-“Dr Jaitley” ये ख्याल अच्छा है

अन्य ट्वीट में कांग्रेस उपाध्यक्ष ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर नोटबंदी और गलत तरीके से जीएसटी को लागू करने का आरोप लगाया था।

कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्य राहुल गांधी ने ट्वीट कर वित्त मंत्री पर निशाना साधा है। (फोटो सोर्स ट्विटर स्क्रीन शॉट और पीटीआई)

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर अर्थव्यवस्था और रोजगार को लेकर केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली पर निशाना साधा है। इस बार तंज कसने के लिए उन्होंने उर्दू के विख्यात शायर मिर्जा गालिब की शायरी ‘हमको मालूम है जन्नत की हकीकत लेकिन, दिल को बहलाने को ‘गालिब’ ये ख्याल अच्छा है’ के जरिए निशाना साधा है। बुधवार (1 नवंबर) को ट्वीट कर उन्होंने लिखा, ‘सबको मालूम हैं ease of doing business (व्यापार करने में आसानी) की हकीकत, लेकिन खुद को खुश रखने के लिए Dr Jaitley (डॉक्टर जेटली) ये ख्याल अच्छा है। इससे पहले अन्य ट्वीट में कांग्रेस उपाध्यक्ष ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर नोटबंदी और गलत तरीके से जीएसटी को लागू करने का आरोप लगाया था। ट्वीट में उन्होंने कहा था कि मोदी जी ने हिंदुस्तान की अर्थव्यवस्था को आईसीयू में पहुंचा दिया है। बता दें कि राहुल गांधी पिछले कुछ दिनों से ट्विटर पर काफी सक्रिय हो गए हैं। ट्विटर पर कुछ दिनों में फॉलोअर्स बढ़ने और धारदार ट्वीट्स को लेकर वो लोगों के निशाने पर भी आए थे। सवाल उठा कि आखिर उनके ट्वीट्स कौन कर रहा है। इसका जवाब देने के लिए उन्होंने एक वीडियो शेयर किया था। वीडियो उनके पालतू डॉगी ‘Pidi’ का था। इसपर उन्होंने लिखा कि उनके ट्वीट्स ये ‘Pidi’ करता है।

 

राहुल गांधी के ट्वीट पर ट्विटर यूजर्स ने भी अपनी राय जाहिर की है। लालू लिखते हैं, डॉक्टर जेटली अर्थव्यवस्था को अर्थी देकर ही दम लेंगे राहुल जी। मल्लिकाजुर्न रॉबर्ट वाड्रा की तस्वीर शेयर कर लिखते हैं, कुछ लोग सोचते हैं कि व्यापार करने में आसानी का दायरा अब खत्म हो चुका है। लेकिन ये गरीब लोगों से नफरत करते हैं। सुप्रिया लिखती हैं, सबको मालूम है ‘Pidi’ की हकीकत पर खुद को मसरूफ रखने को ये काम अच्छा है। तुमको मालूम है तुम्हारी फजीहत पर खुद को खुश रखने को ये ख्याल अच्छा है। नवाज पटेल भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के बेटे के कारोबार में आए कथित उछाल पर तंज कसते हुए लिखते हैं, एक साल में पचास हजार से अस्सी करोड़ का टर्न ओवर। ऐसे व्यापार ही व्यापार को आसान करने की जरूरत है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App