ताज़ा खबर
 

वीडियो शेयर कर कांग्रेस ने किया दावा-विजय रुपाणी की रैली से शहीद की बेटी को धक्के मारकर निकाला

राहुल गांधी की ओर से यह प्रतिक्रिया ऐसे वक्त में आई है, जब उत्तर प्रदेश में हुए निकाय चुनाव के नतीजे आए हैं। राहुल अमेठी से सांसद हैं, जबकि उनकी मां रायबरेली से सांसद हैं। दोनों ही जगहों पर निकाय चुनाव में कांग्रेस का बुरा हाल हुआ है।

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के दफ्तर के ट्विटर अकाउंट से शुक्रवार शाम एक वीडियो डाला गया। दावा किया गया कि यह गुजरात के सीएम की रैली की क्लिप है, जहां एक शहीद की बेटी का अपमान किया गया। (फोटोः फेसबुक)

गुजरात में यहां एक रैली के दौरान राज्य के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी से शहीद बीएसएफ जवान की बेटी को मिलने से महिला पुलिस र्किमयों ने रोक दिया। आदिवासी महिला की पहचान रूपल तडवी (26) के तौर पर हुई है। वह कई सालों से इस बात को लेकर प्रदर्शन कर रही है कि उसके पिता अशोक तडवी के शहीद होने के बाद सरकार ने जो जमीन देने का कथित रूप से वादा किया था वह आज तक पूरा नहीं किया। उसने बताया कि उसके पिता बीएसएफ में थे और शहीद हुए थे। रूपाणी आज यहां एक रैली को संबोधित कर रहे थे। रूपल दर्शकों में बैठी थी और अचानक से चिल्लाते हुए मंच की ओर दौड़ पड़ी,  मैं उनसे मिलना चाहती हूं…मैं उनसे मिलना चाहती हूं।’ इससे पहले कि वह मुख्यमंत्री के करीब जा पाती, महिला पुलिसकर्मी उसे वहां से ले गईं। रूपाणी ने मंच से कहा,  मैं आपसे इस कार्यक्रम के बाद मिलूंगा।’’ लेकिन कोई मुलाकात नहीं हुई।
रूपल को पुलिस कर्मियों द्वारा ले जाने के दौरान बचने के लिए संघर्ष करने का वीडियो वायरल हो गया है। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने घटना का वीडिया ट्विटर पर पोस्ट किया है। उन्होंने कहा कि भाजपा का अहंकार अपने चरम पर है। गांधी ने हिंदी में ट्वीट करके आरोप लगाया ‘‘परम देशभक्त’ रुपाणीजी ने शहीद की बेटी को सभा से बाहर फेंकवा कर मानवता को शर्मसार किया। 15 साल से परिवार को मदद नहीं मिली, खोखले वादे मिले।

बता दें कि राहुल गांधी की यह प्रतिक्रिया ऐसे वक्त में आई है, जब उत्तर प्रदेश में हुए निकाय चुनाव के नतीजे आए हैं। राहुल अमेठी से सांसद हैं, जबकि उनकी मां रायबरेली से सांसद हैं। दोनों ही जगहों पर निकाय चुनाव में कांग्रेस बेहाल साबित हुई। ऐसे में कांग्रेस अब गुजरात विधानसभा को लेकर भाजपा पर हमलावर होती दिख रही है।

शुक्रवार को राहुल गांधी के दफ्तर के आधिकारिक टि्वटर हैंडल से एक ट्वीट हुआ। लिखा गया, “भाजपा का घमंड अपने चरम पर है। ‘परम देशभक्त’ रूपाणी जी ने शहीद की बेटी को सभा से बाहर फिंकवा कर मानवता को शर्मसार किया। 15 साल से परिवार को मदद नहीं मिली। खोखले वादे और दुत्कार मिली। इंसाफ मांग रही इस बेटी को आज अपमान भी मिला। शर्म कीजिए न्याय दीजिए।”

ट्वीट में एक वीडियो भी अटैच था। दावा किया गया कि उसमें एक शहीद की बेटी को विजय रूपाणी की रैली से बाहर फिंकवा दिया गया। वीडियो में कोई रैली स्थल नजर आता है, जहां एक महिला रोते और चिल्लाते दिख रही है। जबकि, पुलिस उसे घसीट-घसीट कर वहां से हटा रही होती है। बैकग्राउंड से किसी नेता के भाषण देने की आवाजें आ रही होती हैं, जो राहुल गांधी का जिक्र भी करता है। हालांकि, वीडियो से स्पष्ट तक नहीं हो सका है कि वे बातें कौन बोलता है। मगर कांग्रेस दावा कर रही है कि यह सीएम रूपाणी की रैली का वीडियो है।

Rahul Gandhi protesting against the drug menace कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी (फाइल फोटो)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App