ताज़ा खबर
 

राहुल गांधी ने GST को लेकर पीएम मोदी पर साधा था निशाना, स्‍मृति ईरानी ने 54 मिनट में दिया ये जवाब

स्मृति ईरानी ने एक और ट्वीट किया और कहा, " आदरणीय राहुल जी यदि आप दुनिया के सबसे लंबे ताजपोशी समारोह से आप फ्री हो चुके हैं, तो मैं आपसे अनुरोध करती हूं कि इस लेख को पढ़िए और अपना ज्ञान बढ़ाइए।"

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी।

जीएसटी को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के बीच ट्विटर पर जोरदार बहस हुई है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने जीएसटी पर वर्ल्ड बैंक की रिपोर्ट का हवाला देते हुए तंज कसा और लिखा, “मोदी जी गब्बर सिंह टैक्स के आतंक की चर्चा अब दुनिया भर में हो रही है, वर्ल्ड बैंक कहता है कि यह दुनिया में दूसरा सबसे ऊंचा जीएसटी है और साथ ही यह सबसे जटिल टैक्स प्रणाली भी है।” राहुल गांधी को इस ट्वीट को किये हुए एक घंटे भी पूरे नहीं हुए कि बीजेपी सरकार की ओर से इसका जवाब आ गया। केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी 54वें मिनट में राहुल के आरोपों का जवाब लेकर ट्विटर पर आईं  और कांग्रेस अध्यक्ष पर हमला किया। राहुल गांधी ने अपना ट्वीट दोपहर 1 बजकर 56 मिनट पर किया था, जबकि स्मृति ईरानी का जवाब 2 बजकर 50 मिनट पर आया।

स्मृति ईरानी ने कहा, “भारत के लिए राहुल गांधी की घृणा आश्चर्यजनक है, जब वर्ल्ड बैंक ने इज ऑफ डूइंग बिजनेस के लिए भारत के बढ़ी हुई  रैंकिंग की तारीफ की, उन्होंने रिपोर्ट को बकवास करार दिया। अब वर्ल्ड बैंक की रिपोर्ट को चुनिंदा रूप से बताते हैं और भारत की प्रगति को कम बताते हैं।” स्मृति ईरानी ने एक और ट्वीट किया और कहा, ” आदरणीय राहुल जी यदि आप दुनिया के सबसे लंबे ताजपोशी समारोह से आप फ्री हो चुके हैं, तो मैं आपसे अनुरोध करती हूं कि इस लेख को पढ़िए और अपना ज्ञान बढ़ाइए।”

बता दें कि जीएसटी पर एक रिपोर्ट में विश्व बैंक ने कहा है कि भारत की वस्तु और सेवा कर (जीएसटी) प्रणाली दुनिया की सबसे जटिल कर प्रणालियों में से एक है। इसमें न केवल सबसे उच्च कर दर शामिल है बल्कि इस प्रणाली में सबसे अधिक कर के स्लैब भी हैं। वर्ल्ड बैंक ने कहा है कि भारत उच्च मानक जीएसटी दर मामले में एशिया में पहले और चिली के बाद विश्व में दूसरे स्थान पर है। वर्ल्ड बैंक ने अपनी रिपोर्ट में कहा, “भारतीय जीएसटी प्रणाली में कर की दर दुनिया में सबसे अधिक है। भारत में उच्चतम जीएसटी दर 28 प्रतिशत है। यह 115 देशों में दूसरी सबसे ऊंची दर है, जहां जीएसटी (वैट) प्रणाली लागू है।” भारतीय जीएसटी प्रणाली को जो चीज और जटिल बनाती है वह विभिन्न श्रेणियों की वस्तुओं और सेवाओं पर लागू होने वाली अलग-अलग जीएसटी दरों की संख्या है। भारत में वर्तमान में चार नॉन जीरो दरें-5, 12, 18 और 28 प्रतिशत हैं। इसके अलावा कई वस्तुओं पर कोई कर नहीं है, जबकि सोने पर तीन फीसदी पर कर लगता है। पेट्रोलियम उत्पादों, बिजली और रियल एस्टेट जीएसटी से बाहर रखा गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App