scorecardresearch

“भाजपा में होता तो राष्ट्रपति होता”- कांग्रेस नेता ने किया ट्वीट तो हुई खिंचाई

राष्ट्रपति चुनाव से पहले उदित राज ने ट्वीट कर कहा था कि ‘अचानक अखबार में खबर छपी कि मुझे भाजपा उप-राष्ट्रपति के पद के लिए विचार कर रही है।

“भाजपा में होता तो राष्ट्रपति होता”- कांग्रेस नेता ने किया ट्वीट तो हुई खिंचाई
कांग्रेस नेता उदित राज(फोटो सोर्स: एक्सप्रेस/फाइल)।

कांग्रेस नेता उदित राज अक्सर बयानों को लेकर विवादों में रहते हैं। हाल ही में देश को नया राष्ट्रपति मिला है। राष्ट्रपति चुनाव के वक्त भी उदित राज लगातार बयानबाजी कर रहे थे। अब उदित राज ने कहा है कि भाजपा के कई नेताओं ने उनसे कहा है कि अगर वह भाजपा में होते तो आज वह देश के राष्ट्रपति होते।

उदित राज ने किया ट्वीट

उदित राज ने एक ट्वीट कर लिखा है कि “संयोगवश आज संसद गया तो BJP के MP सुधांशु त्रिवेदी, रूडी व जावड़ेकर मिले। शुभ चिंतक लहजे में कहा कि अगर मैं भाजपा न छोड़ा होता तो राष्ट्रपति होता आज। बात में दम था क्योंकि BJP में शामिल होने के पहले ही MP बनाने का प्रस्ताव दिया था। मेरे लिए समाज व विचारधारा महत्वपूर्ण है।” 

लोगों की प्रतिक्रियाएं

कांग्रेस नेता के इस ट्वीट पर तमाम लोग अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। पत्रकार मीनाक्षी ने लिखा कि ‘आपका ये त्याग इतिहास में लिखा जाएगा उदित सर कि कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष पद के लिए आपने राष्ट्रपति पद का त्याग कर दिया। वैसे MP बनने का राष्ट्रपति से क्या संबंध है सर?’ अर्पित आलोक मिश्र ने लिखा कि ‘संसद में ऐसा मज़ाक उचित नहीं है, इसके लिए भाजपा नेताओं की ‘निंदा’ होनी चाहिये।’

विकेश कुमार नाम के यूजर ने लिखा कि ‘आज तक हमारी समझ में यही नहीं आया कि आपकी विचारधारा क्या है? कभी बीजेपी की जय-जयकार तो कभी कांग्रेस की, बस अपनों की जयजयकार नहीं कर सकते, यही विचारधारा है आपकी।’ एक यूजर ने लिखा कि ‘मजाक भी नहीं समझते हैं? भाजपा के लोग तो इनको कांग्रेस अध्यक्ष बनने की बात भी करते रहते हैं तो क्या बन जाएंगे?’

देनी पटेल नाम के यूजर ने लिखा कि ‘वो तीनों को पता नहीं लेकिन आपको UN का अध्यक्ष बनाना तय था लेकिन आपने कांग्रेस के अध्यक्ष के लिए वो त्याग दिया, इतिहास में लिखा जाएगा, हमारी आने वाली पीढ़ी आपकी कहानी जरूर पढ़ेगी।’ विकास श्रीवास्तव नाम के यूजर ने लिखा कि ‘2019 में अगर हंसराज हंस की जगह टिकट मिल गया होता तो समाज और विचारधारा भी महत्वपूर्ण नहीं होती।’

बता दें कि राष्ट्रपति चुनाव से पहले उदित राज ने ट्वीट कर कहा था कि ‘अचानक अखबार में खबर छपी कि मुझे भाजपा उप-राष्ट्रपति के पद के लिए विचार कर रही है। कुछ स्रोतों से जानकारी की पुष्टि हुई। न मुझे उसमें रुचि थी और न मैं चुप हुआ और अंत में सब ठंडा हो गया। अच्छी ही हुआ था।’ गौरतलब है कि उदित राज भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ सांसद रह चुके हैं। हालांकि भाजपा से नाराज होने के बाद अब वह कांग्रेस में हैं।

पढें ट्रेंडिंग (Trending News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.