scorecardresearch

चिप लगी होती तो मोदी जी इन्हें ढूंढ लेते- बाजार में आए 500 के नकली नोट तो कांग्रेस नेता ने PM पर कसा तंज, मिलने लगे ऐसे जवाब

RBI के अनुसार वित्त वर्ष 2021-22 में नकली नोटों की संख्या काफी बढ़ गई है। इस पर कांग्रेस नेता ने प्रधानमंत्री पर तंज कसा है।

Narendra Modi, Vinod kapri, Gyanwapi maszid
पीएम नरेंद्र मोदी (फोटो सोर्स- ट्विटर वीडियो ग्रैब/ANI)

नोटबंदी के बाद जब 500 और 2000 के नए नोट सामने आए थे तो इस तरह की खबरें चली थीं कि नए नोट में चिप लगी है। इसे सरकार कहीं से भी खोज सकती है, साथ ही असली और फर्जी नोट का पता आसानी से लगाया जा सकेगा लेकिन चिप वाली बात तो पहले ही गलत साबित हुई थी और अब 500 के फर्जी नोट बाजार में घूम रहे हैं। इसी पर कांग्रेस नेता ने सरकार पर तंज कसा है।

कांग्रेस नेता श्रीनिवास वी ने ट्विटर पर 500 के फर्जी नोट बाजार में आने की खबर को शेयर करते हुए लिखा है कि ‘काला धन तो नहीं आया, नकली नोट जरूर आ गए। काश इनमें भी चिप लगी होती, तो मोदी जी इन्हें ढूंढ लेते।’ कांग्रेस नेता के इस ट्वीट पर तमाम लोग अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं।

कृष्ण कान्त ने लिखा कि ‘काले धन वाले आज भी रो रहे हैं, आगे भी रोयेंगे।’ राघव ने लिखा कि ‘काला धन छुपाने की कला तो कांग्रेसी बचपन में ही सीख लेते हैं, मजाल है कोई ढूंढ ले।’ योगेश नाम के यूजर ने लिखा कि ‘ये सब नकली नोट कांग्रेस ने बढ़ाए हैं, सिर्फ मोदी को घेरनेके लिए लेकिन खुद ही माइनस होते जा रहे हैं।’ वसंथा कुमार ने लिखा कि ‘कोई बात नहीं, साहेब ड्रोन लाएं हैं। चिप की बात तो पुरानी हो गई।’

सुदामा यादव ने लिखा कि ‘अच्छे दिन आएं ना आएं, जाली नोट जरूर आ गए।’ गुलशन नाम के यूजर ने लिखा कि ‘ये काला धन के कारण ही गरीब लोग मर गए, अमीर लोग को तो कुछ नहीं हुआ।’ उपेन्द्र सिंह ने लिखा कि ‘तुरंत की वाहवाही लेने के लिए मोदी ने देश ही तबाह कर दिया।’ एक यूजर ने लिखा कि ‘श्रीमान छापे आपने ही हैं तो चिप भी लगा देते, क्यों अपनी करनी मोदी पर थोप रहे हैं।’

संजय नाम के यूजर ने लिखा कि ‘अब 2000 ओर 500 के नोट बंद होंगे तो छाती मत पीटना।’ अमरेंद्र कुमार ने लिखा कि ‘एक झूठे पर गांव के छोटे बच्चे भी भरोसा नहीं करते, आज देशवासी मोदी पर भरोसा करने पर क्यों मजबूर हैं? शायद कांग्रेस भी एक मूल वजह है!’ एक यूजर ने लिखा कि ‘चिप नहीं लगी तो कोई बात नहीं, इन सब को अब प्रधानमंत्री जी ड्रोन से खोज लेंगे, कोई नकली नहीं बचेगा।’

बता दें कि भ्रष्टाचार और काला धन को रोकने के लिए 8 नवंबर 2016 को रात आठ बजे टीवी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 500 और 1000 के नोटों को बंद करने का ऐलान किया था। इसके बाद दावा किया गया कि अब कालाधान और भ्रष्टाचार कम हो जायेगा लेकिन अब RBI के अनुसार, 500 रुपए के नकली नोट एक साल में दोगुने हो गए हैं।

पढें ट्रेंडिंग (Trending News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट