ताज़ा खबर
 

सर्जिकल स्‍ट्राइक को फर्जी बताकर घिरे संजय निरुपम, ट्विटर यूजर ने पूछा- क्‍या आप देंगे देशभक्ति का सबूत?

अरविंद केजरीवाल के बाद सोशल मीडिया यूजर्स ने संजय निरुपम को निशाने पर लिया है।
कांग्रेस नेता संजय निरुपम

कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने भारतीय सेना द्वारा पीओके में 29 सिंतबर की रात की गई सर्जिकल स्‍ट्राइक के फर्जी होने का अंदेशा जताया है। केंद्र में सत्‍ताधारी भाजपा पर सवाल उठाते हुए निरूपम ने ट्वीट किया, ”प्रत्‍येक भारतीय पाकिस्‍तान के खिलाफ सर्जिकल स्‍ट्राइक्‍स चाहता है लेकिन भाजपा द्वारा राजनीतिक फायदे के लिए फर्जी वाली नहीं। देश के हितों पर राजनीति।” उनका ट्वीट अरविंद केजरीवाल के वीडियो जारी करेन के अगले दिन आया है। दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने वीडियो जारी कर पीएम मोदी से सबूत पेश करने को कहा था। उन्‍होंने क‍हा कि सर्जिकल स्‍ट्राइक के बाद से पाकिस्‍तान बौखला गया है। वह अंतरराष्‍ट्रीय पत्रकारों को सीमा पर लेकर गया है। यह दिखाने की कोशिश कर रहा है कि सर्जिकल स्‍ट्राइक तो हुर्इ ही नहीं। इसे झूठ साबित करने के लिए सबूत दिए जाएं। केजरीवाल के वीडियो पर मंगलवार को केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने पलटवार करते हुए कहा कि केजरीवाल देश की सेना पर शक कर रहे हैं। यदि उन्‍हें शक नहीं है तो फिर पाकिस्‍तान के झूठे प्रचार से प्रभावित होने की जरूरत नहीं है। प्रसाद ने कांग्रेस नेता पी चिदंबरम पर भी निशाना साधते हुए क‍हा कि क्‍या वे भी सेना के जवानों के सर्जिकल स्‍ट्राइक कर सकने की योग्‍यता पर सवाल उठाने वालों में शामिल हैं। चिदंबरम ने एक अखबार को इंटरव्यू में कहा था कि उनकी सरकार के समय जनवरी 2013 में पीओके में सर्जिकल स्‍ट्राइक हुई थी।

कारगिल स्‍मारक का दौरा करने पहुंचे गृहमंत्री राजनाथ सिंह, देखें वीडियो: 

अ‍रविंद केजरीवाल का वीडियो सामने आने के बाद सोशल मीडिया पर उनकी तीखी आलोचना हो रही है। जिसके बाद उन्‍होंने सफाई देते हुए कहा कि उनके बयान का लोग गलत मतलब निकाल रहे हैं। आम आदमी पार्टी ने भाजपा पर बेवजह राजनीति करने का भी आरोप मढ़ दिया है।

READ ALSO: सर्जिकल स्‍ट्राइक के सबूत मांगकर फंसे अरविंद केजरीवाल, ट्विटर यूजर्स ने ऐसे की खिंचाई

दूसरी तरफ, संजय निरुपम के ऐसे बयान पर भी सोशल मीडिया पर गुस्‍सा दिख रहा है। यूजर्स ने संजय के ट्वीट के जवाब में तीखे कमेंट्स किए हैं। सिद्धार्थ नाम के यूजर लिखते हैं, ”क्‍या आप ये कह रहे हैं कि हमें अपनी सेना पर भरोसा नहीं करना चाहिए? कोई आपकी इस थ्‍योरी को नहीं पचा पाएगा। कृपया अपनी स्थिति स्‍पष्‍ट करें।”

देखें, सोशल मीडिया पर कैसे घिरे संजय निरुपम: