scorecardresearch

पार्टी छोड़ने वालों को “ग़द्दार” कहो लेकिन आत्मचिंतन तो करो- कांग्रेस नेता ने किया ट्वीट तो लोगों ने कहा- कहीं आप भी तो नहीं उड़ने वाले?

कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे रहे नेताओं के बीच आचार्य प्रमोद ने ट्विटर पर लिखा कि ‘पार्टी छोड़ने वालों को “गद्दार” कहो, “अवसरवादी” कहो या “धोखेबाज” कहो, लेकिन “आत्मचिंतन” तो करो।

Congress, Rahul Gandhi, PK, Sonia Gandhi
कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह (बीच में) और सीनियर कांग्रेस नेता राहुल गांधी। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटोः प्रेम नाथ पांडे)

एक तरफ कांग्रेस ने लगातार मिल रही हार पर मंथन करने के लिए चिंतन शिविर का आयोजन किया तो दूसरी तरफ लगातार पार्टी छोड़कर नेताओं के जाने का सिलसिला जारी है। पंजाब, गुजरात, राजस्थान समेत देश के कई राज्यों से कांग्रेस के नेता इस्तीफा दे रहे हैं। अब आचार्य प्रमोद कृष्णम ने ट्वीट कर कहा की पार्टी छोड़ने वालों को कुछ भी कहो लेकिन आत्मचिंतन तो करो।

आचार्य प्रमोद ने ट्विटर पर लिखा कि ‘पार्टी छोड़ने वालों को “गद्दार” कहो, “अवसरवादी” कहो या “धोखेबाज” कहो, लेकिन “आत्मचिंतन” तो करो।’ ऐसा माना जा रहा है कि आचार्य प्रमोद का ये ट्वीट कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व के लिए था लेकिन उन्होंने किसी का नाम नहीं लिया और आत्मचिंतन करने की सलाह दे दी। हालांकि अभी कुछ दिन पहले ही कांग्रेस ने चिंतन शिविर का आयोजन किया था।

लोगों की प्रतिक्रियाएं: पत्रकार अर्पित आलोक मिश्र ने आचार्य प्रमोद के ट्वीट पर लिखा कि ‘राजस्थान के उदयपुर में 3 दिन जो हुआ, वो क्या था?’ इस पर आचार्य प्रमोद ने कहा कि ‘इसे समझने के लिये आपको “चिंतन” करना चाहिये।’ रोहित रंजन ने लिखा कि ‘आप भी जाने की सोच रहे हो कहीं क्या?’ कुंदन के सिंह नाम के यूजर ने लिखा कि ‘आप प्रियंका जी के सलाहकार परिषद के सदस्य हो। उनके यूपी प्रभारी बनने के बाद जितिन, आरपीएन, हरेंद्र, पंकज मलिक, ललितेश पिता-पुत्र, राकेश सचान के अलावा दर्जनों नेता पार्टी छोड़ गए, आपने क्या चिंतन किया?’

एक यूजर ने लिखा कि ‘लगता है स्वामी जी भी पाला बदलने वाले हैं!’ भानु प्रताप सिंह नाम के यूजर ने लिखा कि ‘लगता है कि आपकी अंतरात्मा ने आपको आवाज देना शुरु कर दिया है.. अब आप भी पैराशूट पहनकर उड़ने की तैयारी कीजिए बाबा।’ प्रबोध मिश्र नाम के यूजर ने लिखा कि ‘लगता है आपका भी विकट गिरने वाला है कांग्रेस से?’ उत्तम सिंह नाम के यूजर ने लिखा कि ‘4 दिन पहले तो किया था आचार्य जी। कुछ हल निकला? बस सभी ने एक बात कही कि राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाओ।’

उमेश मीणा नाम के यूजर ने लिखा कि ‘आत्मचिंतन वो करें स्वामी जी, जिसने पार्टी छोड़ दी या छोड़ने का मन बना रहे हैं। पार्टी क्यों चिंतन करे ऐसे लोगों पर? जिनको छोड़ कर जाना ही है तो जाएं?’ अनामिका झा नाम की यूजर ने लिखा कि ‘चिंतन क्या करना है? पार्टी छोड़ कर वो जा रहे हैं जिन्हें पद चाहिए, सत्ता चाहिए। किसी कार्यकर्ता का नाम बता दीजिये जिन्होंने कांग्रेस छोड़ी हो। किसी गैर राजनीतिक पारिवारिक पृष्ठभूमि वाले का नाम बता दें जिसने कांग्रेस छोड़ी हो।’ निशंक दूबे नाम के यूजर ने लिखा कि ‘आचार्य जी ये बात तो आपने बिलकुल सही कही है पर कांग्रेस में आत्मचिंतन होता ही कहां है? इतने नेताओं ने पार्टी छोड़ी उसकी कुछ न कुछ वजह तो होगी ही।’

पढें ट्रेंडिंग (Trending News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट