प्रियंका गांधी ने लखीमपुर हिंसा का वीडियो किया शेयर, पीएम नरेंद्र मोदी से बोलीं – आपकी सरकार ने बिना आर्डर के मुझे 28 घंटे से हिरासत में रखा है

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी की हिरासत के खिलाफ कांग्रेस कार्यकर्ता सीतापुर पीएसी गेस्ट हाउस के सामने प्रदर्शन कर रहे हैं।

Uttar Pradesh, Farmer Law
प्रियंका गांधी ने लखीमपुर हिंसा का वीडियो किया शेयर, PM मोदी से पूछा यह सवाल (फोटो सोर्स – सोशल मीडिया)

यूपी के लखीमपुर में किसानों की दर्दनाक मौत के बाद एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसमें देखा जा सकता है कि किसानों को रौंदते हुए चली जा रही है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने इसी वीडियो को शेयर करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी से सवाल पूछा है कि अन्नदाता को कुचल देने वाला यह व्यक्ति अब तक गिरफ्तार क्यों नहीं हुआ?

उन्होंने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा, नरेंद्र मोदी जी आपकी सरकार ने बगैर किसी ऑर्डर और FIR के मुझे पिछले 28 घंटे से हिरासत में रखा है। अन्नदाता को कुचल देने वाला यह व्यक्ति अब तक गिरफ्तार नहीं हुआ। क्यों? वहीं कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने भी प्रियंका गांधी के समर्थन में ट्वीट करते हुए लिखा है कि जिसे हिरासत में रखा है, वह डरती नहीं है। सच्ची कांग्रेसी है, हार नहीं मानेंगी। सत्याग्रह रुकेगा नहीं।

प्रियंका गांधी के ट्वीट पर तमाम लोगों ने अपनी प्रतिक्रिया भी दी है। एक बीजेपी विधायक ने उनके इस ट्वीट पर लिखा, लगता है, कल किसानों और सरकार के बीच हुआ शांतिपूर्ण समझौता, नेहरू-फिरोज खान के परिवार को रास नहीं आ रहा, परेशान हो कि आपकी इतनी जहरीली टूलकिट के बाद भी उत्तर प्रदेश शांत कैसे है? प्रियंका जी आपसे अनुरोध है, अपने परिवार की परंपराओं से इतर लाशों पर राजनीति बंद कर दीजिए।

एक ट्विटर यूजर ने उनके इस बात का समर्थन करते हुए कहा कि आप बिल्कुल सही कह रहीं हैं और क्या हमारा मानव अधिकार कमीशन सो रहा है क्या? कांग्रेस नेत्री नीता डिसूजा लिखती हैं, आदित्यनाथ बिष्ट जी। किसानों के लिए उठने वाली आवाज़ों को आपके जेलों की चहारदीवारियां कैद नहीं कर सकती है। आवाज देते हैं कि हम किसानों के साथ हैं। कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने भी उनके इस ट्वीट पर समर्थन करते हुए लिखा है कि किसान के साथ प्रियंका।

गौरतलब है कि पीड़ित किसान परिवार से मिलने जा रही प्रियंका गांधी वाड्रा को यूपी पुलिस ने हिरासत में रखा है। जानकारी के लिए बता दें कि लखीमपुर हिंसा के बाद सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो को लेकर कई विपक्षी नेताओं ने योगी आदित्यनाथ सरकार पर निशाना साधा है।

पढें ट्रेंडिंग समाचार (Trending News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट