ताज़ा खबर
 

रिपब्लिक टीवी के रिपोर्टरों को कांग्रेस दफ्तर से भगाया, बोले- हम बेईमानों के सवालों का जवाब नहीं देते

अरनब गोस्वामी की कहना है कि मेरे रिपोर्टरों कांग्रेस के लोगों ने मारा भी है।

ऑल इंडिया कांग्रेस कमिटी की प्रेस कान्फ्रेंस में रिपब्लिक टीवी के दो रिपोर्टरों को अंदर आने से रोक दिया गया। ये दोनों रिपोर्टर बार-बार ऐसा करने के पीचे सवाल पूछते रहें लेकिन उनसे यही कहा जाता रहा कि आप लोग अंदर नहीं जा सकते। दोनों में से एक रिपोर्टर ने तो बकायदा उन्हें मना करने वाले एक शख्स से अपने चैनल हेड अरनब गोस्वामी से बात करवाने की कोशिश भी कि। रिपोर्टर की इस हरकत पर AICC दफ्तर के लोग और भड़क गए। रिपब्लिक टीवी का कहना है कि उनके रिपोर्टरों पर हमला भी किया गया है। दरअसल कांग्रेस पार्टी के दफ्तर में AICC की तरफ से एक मीटिंग और फिर उसके प्रेस कॉन्फ्रेंस का प्रेग्राम रखा गया था। मीटिंग में कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कांग्रेस के दो नए विभागों को अनुमति दे दी। पहला ऑल इंडिया प्रोफेशनल कांग्रेस और दूसरा ऑल इंडिया अन ऑर्गनाइज्ड वर्कर्स कांग्रेस।

ऑल इंडिया प्रोफेशनल कांग्रेस का अध्यक्ष पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व कैबिनेट मंत्री शशि थरूर को बनाया गया है। अध्यक्ष बनने के बाद थरूर को प्रेस कॉन्फ्रेंस में पत्रकारों से रूबरू होना था। रिपब्लिक टीवी का कहना है कि सुनंदा पुष्कर से जुड़े सवालों से बचने के लिए थरूर के इशारे पर उनके साथ बदसलूकी की गई है।

 

बदसलूकी करने वाले कांग्रेस दफ्तर में मौजूद एक शख्स की जब रिपोर्टर ने अरनब गोस्वामी से फोन पर बात करने को कहा तो वह और भड़क गया। उस शख्स ने रिपोर्टर को कहा कि अरनब है कौन? अरनब के नाम पर इस सख्स ने कहा कि आज उसने जो करोड़ों रुपए बनाए हैं वो सब बेईमानी से आए हैं। अपने पत्रकारों के साथ हुई इस बदसलूकी पर अरनब गोस्वामी काफी गुस्से में हैं। उन्होंने देश बर के पत्रकारों से पूछा है कि क्या अब आप लोग हंगामा नहीं करोगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. Pardeep Punia
    Aug 1, 2017 at 7:47 pm
    ऐसे लोगो के साथ ऐसा ही होना चाहिए .
    (0)(0)
    Reply
    1. Jayesh Singh
      Aug 1, 2017 at 4:07 pm
      Good , bahoot sukoon Ka pal.
      (0)(0)
      Reply