ताज़ा खबर
 

1 किलो आपराधिक रिकॉर्ड में मिलाएं एक लीटर भगवा रंग, कांग्रेस का ‘रेसिपी’ वीडियो से योगी पर वार

कांग्रेस के वीडियो में दिखाया गया है- इस रेसिपी को साम्प्रदायिकता की आग पर सेंकिए और इसे कर्नाटक में नफरत के साथ परोसिए।

कांग्रेस के इस वीडियो में सीएम योगी आदित्यनाथ पर तीखे हमले किये गये हैं। (वीडियो ग्रैब सोर्स-Twitter/@INCIndia )

कर्नाटक विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी और कांग्रेस के बीच तलवारें खिंच चुकी है। उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ के कर्नाटक दौरे के बाद कांग्रेस बीजेपी पर हमलावर है। सीएम सिद्धारमैया ने ‘बीजेपी और आरएसएस’ को हिन्दू उग्रवादी करार दिया है। इससे पहले योगी आदित्यनाथ ने बैंगलुरु में आयोजित रैली में सिद्धारमैया के हिंदू होने पर ही सवाल उठाया था। योगी ने पूछा था कि कि अगर सिद्धारमैया हिंदू हैं तो वह गोमांस खाने वालों की वकालत क्यों करते हैं? ताजा हमले में कांग्रेस पार्टी ने एक वीडियो जारी कर योगी आदित्यनाथ पर हमला किया है। कांग्रेस ने अपने ट्वीटर अकाउंट पर लिखा, ‘बीजेपी के स्टार प्रचारक बनने की रेसिपी यहां पर है, लेकिन इसको आजमाने की सलाह हम आपको नहीं देते हैं।’ वीडियो में आगे दिखाया गया है-क्रिमिनल रिकॉर्ड एक किलो, इसके बाद सीएम योगी आदित्यनाथ पर चल रहे कथित आपराधिक मामलों की एक सूची डाली गई है। इसके बाद वीडियो में एक कपड़े को एक लीटर भगवा रंग में रंगते दिखाया गया है। कांग्रेस की इस रेसिपी में लिखा है कि अब इसमें घड़ियाली आंसू आधा कप मिलाइए। इस दौरान वीडियो में योगी आदित्यनाथ को संसद में रोते हुए दिखाया गया है।

कांग्रेस के इस वीडियो में योगी आदित्यनाथ के पुराने बयानों का जिक्र किया गया है। वीडियो में कहा गया है कि स्टार कैम्पेनर बनने के लिए आपको विकास पर एकदम ध्यान देने की जरूरत नहीं है। वीडियो में दिखाया गया है कि इस रेसिपी को साम्प्रदायिकता की आग पर सेंकिए और इसे कर्नाटक में नफरत के साथ परोसिए। बता दें कि कर्नाटक की 224 विधानसभा सीटों के लिए इसी साल मतदान होने को हैं। 2013 से कांग्रेस यहां सत्ता में है। बीजेपी यहां वापसी की पुरजोर कोशिश कर रही है। पार्टी अध्यक्ष अमित शाह कर्नाटक का लगातार दौरा कर रहे हैं। गुजरात और हिमाचल प्रदेश में सरकार बनाने के बाद अमित शाह ने दावा किया था कि अगले विधानसभा चुनाव में बीजेपी कर्नाटक में भी सरकार बनाएगी। 2008 में बीजेपी ने कर्नाटक में पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनायी थी। हालांकि 2013 में पार्टी सत्ता में वापसी नहीं कर सकी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App