ताज़ा खबर
 

ट्रेंडिंग वीडियो: तीन तलाक के मुद्दे पर भड़के मौलाना ने कहा- लोगों के कहने पर राम ने भी तो सीता को छोड़ा था

मौलाना ने मां सीता के लिए ही नहीं पीएम नरेंद्र मोदी पर भी निशाना साधते हुए कहा कि महिलाओं की बात करते हैं देश के पीएम, उनसे कहो कि अपनी बीवी से माफी मांगे।

Author नई दिल्ली | February 11, 2017 12:51 PM
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

ट्रिपल तलाक के मुद्दे को लेकर काफी समय से देश में हंगामा चल रहा है। एक तरफ जहां मुस्लिम समुदाय के कुछ लोग इसे सही बताते हैं तो कई लोग इसका विरोध भी कर रहे हैं। एक टीवी चैनल के शो में उस समय हंगामा हो गया जब ट्रिपल तलाक के मुद्दे पर हो रही चर्चा में मौलाना ने ट्रिपल तलाक की तुलना भगवान राम से कर दी। मौलाना ने कहा कि लोगों के कहने पर राम ने भी तो सीता को छोड़ दिया था। मौलाना के इस बयान के बाद बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा और आरएसएस के एक नेता भड़क गए और मौलाना से माफी मांगने की मांग करने लगे। मौलाना ने पीएम नरेंद्र मोदी पर भी निशाना साधते हुए कहा कि महिलाओं की बात करते हैं देश के पीएम, उनसे कहो कि अपनी बीवी से माफी मांगे। मौलवा ने कहा, ‘इंकलाब मेरा अधिकार है, आप तीन तलाक की बात मत करो ये हमारा अधिकार है। आप लोग सुबह-शाम देश के मुसलमानों को गालियां बकते हो और आम जनता को भड़काने का काम करते हो।’

आपको बता दें कि ट्रिपल तलाक की पैरवी कर रहे तीन मौलाना शो में पहुंचे थे। वहीं इस मुद्दे को लेकर चर्चा करने के लिए बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा, आरएसएस नेता राकेश सिन्हा और बसपा नेता सुधीन्द्र भदौरिया भी वहां मौजूद थे। इस विषय की चर्चा शुरू हुई तो राकेश सिन्हा ने मौलानाओं से कहा कि आप हमेशा ट्रिपल तलाक के मुद्दे पर भड़क क्यों जाते हो। सिन्हा की इस बात का जवाब देते हुए मौलाना अथर देहलवी ने कहा कि जहां सीता को घर से निकाला जा सकता है तो आप ट्रिपल तलाक के मुद्दे पर तो बात न करें तो ही अच्छा होगा।

मौलाना के इस बयान के बाद संबित पात्रा और राकेश सिन्हा आक्रोशित हो गए। संबित पात्रा ने कहा ये कैसे ट्रिपल तलाक की तुलना राम द्वारा मां सीता को छोड़ने से कर रहे हैं। इस तरह मां सीता का अपमान बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इसके बाद पात्रा ने कहा कि यही संविधान का विषय है कि हम अल्लाह-हू-अकबर कह सकते हैं क्योंकि वे हमसे बड़े हैं। हम अल्लाह के बारे में गलती से भी कुछ गलत नहीं कह सकते लेकिन इसका ये मतलब नहीं कि ये लोग मां सीता का नाम कहीं भी घसीट देंगे। हमने भी इस्लाम के बारे में कुछ नहीं कहा क्योंकि हम जानते हैं कि अगर हमने अल्लाह के बारे में कुछ कह दिया तो ये फतवा जारी कर देंगे और हमारा गला कटवा देंगे। जब हम किसी के धर्म से जुड़ी भावना को आहत नहीं कर रहे तो ये मां सीता के बारे में अपमानजनक बातें क्यों बोल रहे हैं।

राकेश सिन्हा ने कहा कि धर्म के नाम पर देश को मत बांटिए। गुस्से में सिन्हा ने मौलाना से कहा कि ये भारत है, ये हिन्दुस्तान है। आप देश के लोगों को भड़का रहे हैं। क्या आप यहां पर दंगल कराना चाहते हैं, मेहरबानी करके यहां के लोगों को बांटने का काम मत कीजिए।

माहौल को गरमा-गरम होता देख मौलाना अथर देहलवी ने माफी मांगी। उन्होंने कहा कि जनकपुत्री और श्री मर्यादा पुरुषोत्तम की अर्धांगिनी के लिए मेरे दिल में उतना ही सम्मान है जितना देश के हिन्दुओं में है। मैंने मां सीता के विषय में कोई अभद्र शब्द का इस्तेमाल नहीं किया है लेकिन फिर भी किसी को ऐसा लगता है कि मैंने उनका अपमान किया है और किसी को इससे दुख पहुंचा है तो मैं अपने शब्द वापस लेता हूं। आपको बता दें कि सोशल मीडिया पर वायरल इस वीडियो को अभी तक 8738 लोग देख चुके हैं। फिलहाल इसे 63 लोगों ने पसंद किया है और 65 लोगों ने नापसंद किया है।

वीडियो देखिए-

देखिए वीडियो - दिल्ली अभी भी सुरक्षित नहीं: जनवरी में 140 रेप केस, तो 200 से ज्यादा छेड़छाड़ के मामले दर्ज

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App