ताज़ा खबर
 

जबरन मांगा आधार कार्ड तो लगेगा एक करोड़ का जुर्माना, दस साल होगी जेल

अब आपको बैंक अकाउंट खुलवाने या फिर सिम कार्ड लेने के लिए आधार कार्ड नहीं देगा होगा।

Author Published on: December 19, 2018 4:39 PM
आधार कार्ड, फोटो सोर्स- जनसत्ता ऑनलाइन

आधार कार्ड यूजर्स के लिए ये एक जरूरी और बड़ी खबर है। अब आपको बैंक अकाउंट खुलवाने या फिर सिम कार्ड लेने के लिए आधार कार्ड नहीं देगा होगा। दरअसल पहले सुप्रीम कोर्ट ने आधार कार्ड की गोपनीयता देखते हुए इसके बैंक और टेलिकॉम कंपनियों द्वारा इसका उपयोग करने पर रोक लगा दी थी। जिसके बाद अब केन्द्र सरकार ने इसे कानून का रूप देने के लिए प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट और भारतीय टेलिग्राफ एक्ट में संशोधन को मंजूरी प्रदान कर दी है।

तीन से दस साल तक की कैद
बता दें कि संशोधन के तहत पहचान और पते के प्रमाण के तौर पर आधार कार्ड के लिए दबाव बनाने पर बैंक और टेलिकॉम कंपनियों को एक करोड़ रुपए तक का जुर्माना भरना पड़ सकता है। यही नहीं इसके साथ ही आधार कार्ड मांगने वाले कर्मचारी अथवा जिम्मेदार व्यक्ति को तीन से दस साल तक की कैद भी हो सकती है। यानी अब आधार कार्ड की जगह पासपोर्ट, राशन कार्ड या कोई अन्य दस्तावेज भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इसका साफ मतलब है कि अब उपभोक्ता पर निर्भर होगा कि वो बैंक खाते या सिम कार्ड के लिए आधार कार्ड देना चाहता है या नहीं।

प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट और भारतीय टेलिग्राफ एक्ट में संशोधन
केन्द्र सरकार ने प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट और भारतीय टेलिग्राफ एक्ट में संशोधन को मंजूरी दे दी है। इस संशोधन के तहत ही इसमें जुर्माने और सजा का प्रावधान शामिल किया गया है। केन्द्र सरकार के इस संशोधन को हाल में आधार कार्ड की अनिवार्यता से जुड़े एख मामले में सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए आदेश के अनुपालन के तौर पर देखा जा रहा है। इस आदेश में सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया था कि यूनीक आइडी (आधार कार्ड) को सिर्फ सरकारी जनहित योजनाओं के लिए ही इस्तेमाल किया जा सकता है।

डेटा मिसयूज पर भी जुर्माना- सजा

संशोधन में आधार का सत्यापन करने वाली संस्था की भी जिम्मेदारी तय की गई है। इसके मुताबिक अगर आधार का सत्यापन करने वाली कोई संस्था डेटा लीक के लिए जिम्मेदार पायी जाती है तो उस पर भी पचास लाख रुपए तक का जुर्माना और 10 साल तक की सजा का प्रावधान है। हालांकि इन संशोधनों को अभी संसद से मंजूरी मिलना बाकी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 मुफ्त में जाने नहीं दिया, टोल प्‍लाजा पर गाड़ी खड़ी कर चला गया विधायक
2 रामप्रसाद बिस्मिल को श्रद्धांजलि देने में कांग्रेस से हो गई चूक, लोगों ने खूब लताड़ा
3 VIDEO: गधे पर बैठ रिपोर्टिंग कर रहे पाकिस्तानी रिपोर्टर का वीडियो वायरल, बाल-बाल बचा