ताज़ा खबर
 

अमेर‍िका में इलाज कराने पर ट्रोल हुए कम्‍युनिस्‍ट विजयन

केरल के मुख्यमंत्री और कम्युनिस्ट नेता पिनराई विजयन इलाज के सिलसिले में अमेरिका गए हैं। कम्युनिस्ट नेता के इलाज के लिए अमेरिका जाने पर सोशल मीडिया यूजर्स ने ट्रोल करना शुरू कर दिया।

केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

केरल के मुख्यमंत्री और कम्युनिस्ट नेता पिनराई विजयन रविवार को इलाज के सिलसिले में अमेरिका गए। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, अब वे करीब तीन सप्ताह बाद वापस लौटेंगे। इस दौरान उनके साथ उनकी पत्नी कमला विजयन हैं। विजयन पहले 19 अगस्त से 17 दिनों के लिए अमेरिका जाने वाले थे, लेकिन राज्य में बाढ़ की गंभीर स्थिति को देखते हुए उन्होंने अपना विदेश जाने का अपना कार्यक्रम स्थगित कर दिया था। मुख्यमंत्री ने विदेश जाने से पहले राज्यपाल पी. सदाशिवम से मुलाकात की और इलाज कराने जाने के लिए अपने विदेश दौरे के बारे में बताया। मुख्यमंत्री की अनुपस्थिति में उद्योग मंत्री ई पी. जयराजन मुख्यमंत्री आपदा राहत कोष में मिलने वाली वित्तीय सहायता राशि हासिल करेंगे।

कम्युनिस्ट नेता के इलाज के लिए अमेरिका जाने पर सोशल मीडिया यूजर्स ने ट्रोल करना शुरू कर दिया। एक ने लिखा कि, “सीएम विजयन जल्द से ठीक हो जाएं। लेकिन अमेरिका तो पूंजीवादी देश है। वे चीन, क्यूबा और वेनेजुएला क्यों नहीं गए। हर पल कम्युनिस्ट अमेरिका पर आरोप लगाते रहते हैं। यदि भारत सरकार अमेरिकी सरकार के साथ किसी संधि या समझौते पर हस्ताक्षर करती है तो कम्युनिस्ट अपने विचारधारा की वजह से उसका जमकर विरोध करेंगे।”

एक अन्य यूजर लिखते हैं, “नहीं, ऐसा नहीं है! असल में कॉमरेड ने राज्य में कभी स्वास्थ्य सेवा को बेहतर नहीं बनाया। यहां के नेता इलाज के लिए या तो पड़ोसी राज्य कर्नाटक जाते हैं या फिर विदेश। केरल के कर्मचारियों को अभी 7वां वेतनमान के अनुसार वेतन नहीं मिल रहा है।”

इसी तरह के कुछ अन्य कमेंट आए हैं, “केरल के लोगों को अपने नेता को बीमारी के बारे में जानने का अधिकार है, जो अमेरिका अपनी बीमारी का इलाज करवा रहे हैं, किसी भी भारतीय अस्पताल में नहीं।” “केरल का विकास अमेरिका के साथ।”

इसी तरह एक ने लिखा, “केरल के मुख्यमंत्री और कम्युनिस्ट नेता पिनराई विजयन जो सीएम योगी आदित्यनाथ को सलाह देते हैं कि कैसे राज्य के अस्पतालों को चलाना चाहिए और दावा करते हैं कि उनके राज्य में स्वास्थ्य सेवा का हाल बेहतर है, वो खुद इलाज के लिए अमेरिका जाते हैं।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App