ताज़ा खबर
 

छत्तीसगढ़ : सीएम भूपेश बघेल ने गौरा गौरी पूजा में अपने हाथों पर सहे चाबुक के वार, जानिए फिर क्या हुआ

छत्तीसगढ़ में गौरा गौरी पूजा मनाने की परंपरा वर्षों से चली आ रही है। इस अवसर पर अपने हाथों पर सोटा खाने की मान्यता है। लोगों का कहना है कि ऐसा करने से सभी तरह के दुख और परेशानियां दूर हो जाती हैं।

छत्तीसगढ़ में गौरा गौरी पूजा करते मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (फोटो सोर्स -ANI)

छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में सोमवार को गोवर्धन पूजा के अवसर पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपने हाथों पर चाबुक का वार पड़वाया। इसको देखने के लिए वहां बड़ी संख्या में लोग मौजूद रहे। कार्यक्रम गौरा गौरी पूजा के रूप में आयोजित किया गया था। कार्यक्रम में मौजूद एक बैगा ने मुख्यमंत्री के हाथों पर चाबुक से वार किया। मान्यता है कि ऐसा करने से किसी भी तरह की आफत दूर रहती है और खुशहाली आती है। 

ग्रामीणों के साथ की पूजा : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सोमवार को जंजगिरी गांव में आयोजित गौरा-गौरी तिहार पूजा में शामिल हुए। वह स्वयं ग्रामीणों के साथ मिलकर गौरा गौरी की पूजा की। गौरा गौरी पूजा प्रदेश में वर्षों से हो रही है। इस दौरान उन्होंने सोटा परंपरा का भी पालन किया। सोटा अपने हाथ में मारने की स्थानीय परंपरा है। लोगों का मानना है कि जो कोई सोटा से मार खा लेता है, उसके ऊपर देवता चढ़ते हैं। सोटा मारने वाला व्यक्ति बैगा जाति का होता है।

Hindi News Today, 28 October 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

मान्यता है कि परंपरा से दिक्कतें दूर हो जाती हैं : ऐसा माना जाता है जो सोटा से मार खा लेता है, उसके सभी कष्ट और पार दूर हो जाते हैं। उसके घर की सभी दिक्कतें और परेशानियां भी दूर हो जाती हैं। किसी भी तरह की आफत उसके पास तक नहीं आती हैं। इसीलिए वहां पर सोटा से मार खाने की लोगों में उत्सुकता रहती है। हालांकि कुछ लोग इसे अंधविश्वास कहते हैं, लेकिन यह परंपरा वर्षों से अपने पुराने रूप में ही चली आ रही है। लोगों का कहना है कि इसको करने से घर में खुशियां रहती हैं।

ट्वीट कर प्रदेशवासियों को दी बधाई : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने घोषणा की है कि गोवर्धन पूजा के त्योहार को राज्य में गौठान दिवस के रूप में हर साल मनाया जाएगा। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर प्रदेशवासियों को गौरा गौरी तिहार की बधाई दी। उन्होंने कहा कि राज्य के लोगों के विकास और उन्रति में त्योहारों का बड़ा महत्व है। धर्म और परंपराएं हमें आगे बढ़ने और खुशियां बांटने में मदद करती हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘5 रुपए के अंडे के लिए छोड़ा 7 फेरों का साथ’ पति Egg नहीं लाया तो घर छोड़कर चली गई महिला
2 Odisha: कुएं में गिरकर छटपटा रहा था हाथी, वन विभाग ने यूं रेस्क्यू कर बचाई जान; देखें VIDEO
3 Kaithi Full Movie Leaked Online to download: तमिल फिल्म ‘कैथी’ को लगा झटका, रिलीज के साथ ही Tamilrockers पर हो गई लीक
ये पढ़ा क्या...
X