Bundelkhand ‘vanar sena’ steal lotas of men defecating in public places - Jansatta
ताज़ा खबर
 

खुले में शौच करने वालों का लोटा चुरा रही ‘वानर सेना’, शर्म के मारे भाग खड़े हुए लोग

सागर के म्युनिसिपल कमिश्नर के मुताबिक, अक्सर खुले में शौच करने वाले कई लोग शर्म के मारे भाग जाते हैं। इस कैंपेन के बाद से स्थिति में थोड़ा सुधार जरूर आया है लेकिन क्षेत्र में कई लोग अब भी ऐसा कर रहे हैं और ये कैंपेन उन्हें लगाातार चुनौतियां दे रहा है।

Author नई दिल्ली | December 14, 2016 3:25 PM
खुले में शौच करने वालों को सबक सीखा रही बुंदेलखंड वानर सेना। (Photo Source: (Representational picture; Source: Express photo by Oinam Anand)

सार्वजनिक स्थानों पर पेशाब करने से रोकने के लिए एक ग्रुप ने पेशाब करने वाले लोगों को पानी की तेज बौछार से दौड़ा-दौड़ा कर खदेड़ने का अभियान शुरू किया था। अब खुले में शौच करने वालों को रोकने के लिए कुछ ऐसा ही अभियान बुंदेलखंड वानर सेना ने शुरू किया है। इंडियाटाइम्स.कॉम की रिपोर्ट के मुताबिक बुंदेलखंड के सागर जिले के 6 से 16 साल के बच्चों का ग्रुप लोगों को खुलेआम शौच करने से रोकने में लगा हुआ है। उन्होंने खुले में शौक करने वालों के लोटे और डिब्बों को टारगेट कर रखा है। बच्चे ऐसे लोगों सबक सीखाने के लिए उनका लोटा और पानी ले जाने के लिए इस्तेमाल की जाने चीजों को चुरा रहे हैं। बच्चों के इस अभियान के कारण बहुत से लोगों को शर्म के कारण भागना पड़ता है।

सागर के म्युनिसिपल कमिश्नर के मुताबिक, अक्सर खुले में शौच करने वाले कई लोग शर्म के मारे भाग जाते हैं। इस कैंपेन के बाद से स्थिति में थोड़ा सुधार जरूर आया है लेकिन क्षेत्र में कई लोग अब भी ऐसा कर रहे हैं और ये कैंपेन उन्हें लगाातार चुनौतियां दे रहा है। ये बच्चे स्वच्छ भारत अभियान के तहत कार्य करके शहर को खुले में शौच करने वालों से मुक्त कराने में मदद कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि बच्चों की यह आर्मी के ‘सागर’ के 22 वार्डों में बनाई गई थी, जिन्हें अब खुले में शौच मुक्त (ODF) किया जा चुका है। शहर में कुल 48 वार्ड है और कुछ जगहों पर लोगों द्वारा मुहिम का समर्थन न करने से दिक्कतें आ रही है। हमारा लक्ष्य 31 दिसंबर तक शहर को खुले में शौच से मुक्त कराना है।

गौरतलब है कि साल 2014 में मुबंई में भी द क्लीन इंडियन नाम के ग्रुप ने सार्वजनिक जगहों पर पेशाब करने वालों को सबक सीखाने के लिए ऐसी ही मुहिम चलाई थी। ग्रुप ने पब्लिक में पेशाब करने वाले लोगों को पानी की तेज बौछार से दौड़ा-दौड़ा कर खदेड़ने का अभियान शुरू किया था। चेहरे पर मास्क लगाए इस ग्रुप के लोग पानी का एक टैंकर लेकर आते थे और खुले में पेशाब कर रहे लोगों को पानी की बौछार से दौड़ा-दौड़ा कर सबक सिखाते थे। ऐसा करने वाले लोगों को आगाह करने के लिए इस ग्रुप ने पानी का एक खास टैंकर भी तैयार किया है, जिसपर ‘you stop, we stop’ लिखा था। पिसिंग टैंकर के नाम से मशहूर इस टैंकर का वीडियो भी यू-ट्यूब पर डाला गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App