ताज़ा खबर
 

Budget 2018: ट्विटर पर जेटली के बजट की उड़ी खिल्ली, यूजर्स ने बताया पकौड़ा बजट

Budget 2018, Union Budget 2018 Highlights (आम बजट 2018): विकास योगी ने लिखा, 'कसम खाके बैठे हैं मोदी जी, कि मिडिल क्लास से पकोड़े बिकवा कर ही दम लेना है।' एक यूजर ने लिखा, 'गाड़ी में लीटर की बजाए चम्मच के हिसाब से तेल न भरवा दिया तो गोभी मेरा नाम नहीं'

1 फरवरी 2018 को बजट पेश करने जाते केन्द्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली, साथ में हैं, वित्त राज्य मंत्री शिव प्रताप शुक्ला (फोटो-पीटीआई)

वित्त मंत्री ने साल 2018 का बजट पेश कर दिया है। सोशल मीडिया पर बजट को लेकर अलग-अलग टिप्पणियां आ रही है। ट्विटर पर यूजर्स टिप्पणियां दे रहे हैं और कह रहे हैं कि इस बजट से मिडिल क्लास को कुछ नहीं मिला है। सोशल मीडिया पर लोग पकौड़ा बजट हैशटैग से लगातार ट्वीट कर रहे हैं। ट्वीटर पर पकौड़ा बजट ट्रेंड कर रहा है। एक यूजर ने एक तस्वीर के जरिये बड़े मजेदार तरीके से बताया है कि कैसे वित्तमंत्री अरुण जेटली की निगाह लोगों की कमाई पर है।  रणधीर चौहान ने लिखा, ‘आम आदमी: तुमने बजट में आम आदमी के लिये क्या किया है, जेटली : तुम पकोड़े बनाओ और बेचो।’ मंजोत सिंह ने लिखा, ‘मिडिल क्लास के लिये पकौड़ा बजट पेश हो चुका है।’ डॉ वत्स ने लिखा, ‘यह पकौड़ा बजट हमारी उम्मीद को फ्राई कर, उसपर मसाला छिड़क डालेगा।’ विकास योगी ने लिखा, ‘कसम खाके बैठे हैं मोदी जी, कि मिडिल क्लास से पकोड़े बिकवा कर ही दम लेना है।’ एक यूजर ने लिखा, ‘गाड़ी में लीटर की बजाए चम्मच के हिसाब से तेल न भरवा दिया तो गोभी मेरा नाम नहीं’

एक यूजर ने लिखा, ‘राष्ट्रपति की तनख्वाह पाँच लाख होगी, उपराष्ट्रपति की चार लाख रुपये और राज्यपाल की तनख्वाह साढ़े तीन लाख होगी। सांसदों का वेतन भी बढ़ेगा और हर पांच साल में सांसदों के भत्ते की समीक्षा होगी। यह बजट तो खुद के लिए बनाया है शायद।’ कई यूजर्स ने तस्वीरों के जरिये मोदी सरकार पर तंज कसा है। नीचे दिये गये ट्वीट्स मजेदार हैं। विनय कुमार दोकानिया लिखते हैं कि 2018 में बीजेपी ने कैपिटल गेन लागू कर दिया है 2019 में बीजेपी कैपिटल से बाहर हो जाएगी। एक यूजर ने लिखा, टमध्यम वर्ग को भी पकौड़ा बेचवाने की तैयारी मे है सरकार। सेस को 1% बढ़ाकर आम जनता की कमर ही तोड़ दी है सरकार।’ एक शख्स ने लिखा कि, ‘लगता है केतली भाई सबको मोदी बनाकर ही रहेंगे।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App