scorecardresearch

बस करो इतना नहीं बोलना चाहिए; बीजेपी सांसद बोले-राज ठाकरे अपराधी हैं, राम के वंशज को पीटा है तो लोगों ने दिया ये जवाब

राज ठाकरे का अयोध्या दौरा रद्द कर दिया गया है। राज ठाकरे ने बताया कि अगर मैं अयोध्या जाता तो मेरे खिलाफ कई केस दर्ज किए जाते। मैं रामलला के दर्शन करना चाहता था, लेकिन तबीयत ठीक नहीं होने के चलते ऐसा नहीं हो पाया।

msn chief, mumbai
एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मनसे प्रमुख राज ठाकरे (फोटो- इंडियन एक्सप्रेस)

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष राज ठाकरे का अयोध्या दौरा स्थगित कर दिया गया है लेकिन इस दौरे के साथ खड़े हुए विवाद पर अभी बयानबाजी जारी है। बीजेपी सांसद ब्रजभूषण शरण सिंह लगातार राज ठाकरे के दौरे का विरोध कर रहे हैं और मनसे कार्यकर्ताओं द्वारा उत्तर भारतीयों की पिटाई किए जाने पर माफी की मांग कर रहे हैं। अब ब्रजभूषण शरण सिंह ने राज ठाकरे की तुलना अपराधी से की है।

ब्रजभूषण शरण सिंह ने कहा है कि ‘राज ठाकरे ने अपराधी की तरह काम किया है। अब उनका हृदय परिवर्तन हुआ है और वो हिन्दुओं के नेता बनना चाहते हैं। वो राम को अपना आदर्श मानते हैं। हम राम के ही वंशज हैं और हमको उन्होंने बेइज्जत किया है। पिटाई की है तो पहले वो माफी मांगे तभी उन्हें आने देंगे वरना नहीं आने देंगे।’

ब्रजभूषण शरण सिंह के इस बयान पर सोशल मीडिया पर लोग अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। अनिल गोयल नाम के यूजर ने लिखा कि ‘कम से कम मोदी जी से कहो कि जो श्रीलंका की मदद कर रहे है उसने सीता हरण किया था, उसके देश की मदद? कह सकते हो मोदी जी को? नहीं तो आपके बोलने का कोई मतलब नहीं।’ कपिल त्रिपाठी ने लिखा कि ‘अब नही आ रहे तो बस करो, इतना नहीं बोलना चाहिए।’

शत्रुघ्न आदिल नाम के यूजर ने लिखा कि ‘मतलब मराठी मानुष का भगवान राम से कोई वास्ता नहीं है, अरे गजब।’ विनीत नाम के यूजर ने लिखा कि ‘अब ये बताएंगे कि कौन यूपी में आ सकता है और कौन नहीं।’ नवनीत नाम के यूजर ने लिखा कि ‘एक और रास्ता है, भाजपा में शामिल हो जाएंया फिर एनडीए में!।’ विद्या तिवारी ने लिखा कि ‘राम के वंशज तो सब हैं, ये अपना राग क्यों आलाप रहे हो? मराठी भी बोल दें कि हम शिवाजी के वंशज है, तुमको महाराष्ट्र नहीं आने देंगे तो?’

बता दें कि राज ठाकरे का अयोध्या दौरा रद्द कर दिया गया है। राज ठाकरे ने बताया कि अगर मैं अयोध्या जाता तो मेरे खिलाफ कई केस दर्ज किए जाते। मैं रामलला के दर्शन करना चाहता था, लेकिन तबीयत ठीक नहीं होने के चलते ऐसा नहीं हो पाया। राजठाकरे ने कहा कि मुझे गाली मिलेगी चलेगा, मेरे ऊपर टिप्पणी की जाएगी चलेगा लेकिन मैं अपने कार्यकर्ताओं को तो नहीं फंसने दूंगा।

पढें ट्रेंडिंग (Trending News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट