ताज़ा खबर
 

VIDEO: लाइव शो में बोले संबित पात्रा- कैराना में इस्लाम तो जीत गया, हिंदू क्यों हार गया

कैराना समेत चार सीटों पर लोकसभा और 10 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव हुए थे। बीजेपी को सबसे बड़ा झटका उत्तर प्रदेश की कैराना लोकसभा सीट पर लगा, जहां विपक्ष की साझा उम्मीदवार तबस्सुम हसन ने पूर्व बीजेपी सांसद हुकुम सिंह की बेटी मृगांका सिंह को भारी मतों के अंतर से हराया।

बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

उत्तर प्रदेश के कैराना लोकसभा उपचुनाव में बीजेपी को हार का सामना करना पड़ा है। हार के बाद बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने वोटों के ध्रुवीकरण को लेकर बड़ी बात कही है। पात्रा ने लाइव शो में सबके सामने ये बात कही है कि कैराना में इस्लाम जीत गया, लेकिन हिंदू क्यों हार गया? हिंदी न्यूज चैनल न्यूज 24 में एक बहस का आयोजन किया गया था, जिसमें ‘भारतीय राजनीति में मुस्लिम वोट बैंक की वापसी हो गई?’ और ‘क्या बांटने वाली राजनीति बीजेपी को उल्टा पड़ गई?’ इन दो सवालों पर चर्चा की जा रही थी। इस शो में पात्रा ने यह बात कही।

उन्होंने कहा, ‘हिंदुस्तान की राजनीति का एक नियम याद रखिए… अगर धार्मिक आधार पर ध्रुवीकरण होता है, एक गुट का होता है तो दूसरे गुट का भी होगा। मुझे खेद है कि ऐसा होना नहीं चाहिए, लेकिन अगर कैराना में एक गुट का एकजुट होना हुआ है, उन्होंने एक होकर वोट किया है तो याद रखिए कि पूरे हिंदुस्तान में इसका असर रहेगा।’

एंकर ने जब सवाल किया कि कैराना में तो 32 प्रतिशत ही मुस्लिम हैं बाकी 68 प्रतिशत हिंदू हैं, वे कहां गए? इसके जवाब में संबित पात्रा ने कहा, ‘मैं एक आम नागरिक की तरह बोल रहा हूं कि जब ये शब्द कि 32 फीसदी मुसलमान तो एक हो गया, हिंदू कहां गया? इस्लाम तो जीत गया हिंदू क्यों हार गया? तब हर कोई सोचेगा।’

बता दें कि हाल ही में 14 सीटों पर उपचुनाव हुए थे। कैराना समेत चार सीटों पर लोकसभा और 10 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव हुए थे। बीजेपी को सबसे बड़ा झटका उत्तर प्रदेश की कैराना लोकसभा सीट पर लगा, जहां विपक्ष की साझा उम्मीदवार तबस्सुम हसन ने पूर्व बीजेपी सांसद हुकुम सिंह की बेटी मृगांका सिंह को भारी मतों के अंतर से हराया। योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद हुए उपचुनावों में भाजपा गोरखपुर, फूलपुर के बाद कैराना लोकसभा सीट भी गंवा बैठी। कैराना में चौधरी अजीत सिंह की पार्टी राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) की उम्मीदवार तबस्सुम हसन ने भाजपा की मृगांका सिंह को 55,000 मतों से पराजित किया। यहां कांग्रेस, सपा और बसपा ने रालोद को समर्थन दिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App