ताज़ा खबर
 

BJP नेता बोले- स्वरा जैसे लोग…बीच में रोक बोले एंकर- नाम मत लें, यह वायरस, डिबेट खराब होती

स्वरा भास्कर का नाम सुनते ही शो के एंकर अमन चोपड़ा ने भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा को टोकते हुए कहा कि नाम ना लीजिए उनका। डिबेट खराब होती है।

June 18, 2021 2:12 PM
भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा व अभिनेत्री स्वरा भास्कर ( फोटो सोर्स – सोशल मीडिया)

एक न्यूज़ चैनल पर चल रही एक डिबेट के दौरान भाजपा प्रवक्ता ने अपनी बात कहना शुरू किया। उन्होंने स्वरा भास्कर का नाम लेते हुए कहा कि यही जो एक्टिविस्ट स्वरा भास्कर…। उनके इतना बोलते हैं एंकर ने टोकते हुए कहा कि नाम मत लीजिए। यह वायरस है। इससे डिबेट खराब होती है।

दरअसल जी न्यूज़ चैनल पर ट्विटर के मुद्दे पर एक लाइव डिबेट चल रही थी। डिबेट के दौरान भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने अपनी बात रखते हुए कहा कि, “देखिए अमन जी इस देश के कुछ लोगों के साइकोलॉजी को समझिए। उन्होंने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा कि आप याद करिए यही जो स्वरा भास्कर एक्ट्रेस है”। स्वरा भास्कर का नाम सुनते ही शो के एंकर अमन चोपड़ा ने भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा को टोकते हुए कहा कि उनका नाम ना लीजिए। डिबेट खराब होती है। एंकर ने चिड़ते हुए कहा कि यह वायरस है। नाम मत लीजिए डिबेट खराब हो जाती है।

डिबेट का यह हिस्सा ट्विटर पर शेयर करते हुए लोग स्वरा भास्कर का मजाक उड़ा रहे हैं। अमित चौधरी नाम के यूजर ने इस वीडियो पर हंसने वाली इमोजी के साथ लिखा कि डिबेट और माहौल दोनों खराब होता है।

एक यूजर ने एंकर अमन चोपड़ा की तारीफ करते हुए लिखा कि आपने तो मुझे अपना फैन बना लिया। मस्त रिएक्शन था आपका। वहीं एक यूजर ने एंकर पर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि, “जो निष्पक्ष नहीं वो पत्रकार नहीं,तो सब से पहले अपने आप को पत्रकार कहना बंद करो। दूसरा एक भारतीय महिला का “वायरस” कह कर अपमान करने पर जो भी वाहवाही करता है। वो देशद्रोही और गद्दार है।

लेखिका शेफाली वैद्य ने हंसते हुए लिखा कि यह बहुत मजेदार था। उनके इस ट्वीट पर रिप्लाई करते हुए एंकर अमन चोपड़ा ने लिखा कि, “यही इन डिजिटल दंगाईयों का मकसद होता है। इनकी चर्चा ही इनके लिए ऑक्सीजन का काम करती है। इन्हें भूल जाएं देश इन्हें भूल जायेगा”। उन्होंने एक और ट्वीट करते हुए लिखा कि ‘ताल ठोक’ के परिवार से एक विनती है। आज जिस वेरिएंट का नाम तक लेने से मैने संबित पात्रा जी को टोका। आप सभी उन्हें टैग करके अप्रत्यक्ष उनका ही प्रचार कर रहे हैं। उन्हें टैग करना संक्रमण को और फैलाएगा, उसे रोकेगा नहीं। सही वैक्सिनेशन के लिए उनका वैचारिक सैनिटाइजेशन कीजिए, टैग नहीं।

Next Stories
1 ये अपने बच्चों से आंख कैसे मिलाते होंगे- पत्रकार आशुतोष ने साधा पुलिसवालों पर निशाना, लोगों ने कर दिया बुरी तरह ट्रोल
2 क्यों ना इंद्रदेव पर मुकदमा कर दिया जाए योगी जी?, बनारस में बारिश की तस्वीरें शेयर कर पूर्व IAS ने यूपी सीएम और पीएम नरेंद्र मोदी पर कसा तंज
3 रामचरित मानस की 2 चौपाई सुना दीजिए नहीं तो मानूंगी आप चंदा चोर हैं- बोलीं रागिनी नायक, संविधान की बात करने लगे BJP के गौरव भाटिया
ये पढ़ा क्या?
X