scorecardresearch

आलाकमान नहीं ताला तमाम नाम कर देना चाहिए- कांग्रेस में चल रहे घमासान में बार बार आलाकमान का जिक्र होने पर संबित पात्रा ने खिंचाई

राजस्थान कांग्रेस में चल रहे बवाल पर भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने कांग्रेस पर तंज कसा है!

आलाकमान नहीं ताला तमाम नाम कर देना चाहिए- कांग्रेस में चल रहे घमासान में बार बार आलाकमान का जिक्र होने पर संबित पात्रा ने खिंचाई
भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा (फोटो- फाइल)

राजस्थान कांग्रेस में शुरू हुई कलह पार्टी की किरकिरी करवा रही है। एक तरफ जहां राहुल गांधी भारत जोड़ो यात्रा के जरिये कांग्रेस को मज़बूत करने की कोशिश कर रहे हैं तो वहीं दूसरी तरफ राजस्थान कांग्रेस के नेता आपस में ही भिड़ गए हैं। कांग्रेस में मचे इस घमासान पर विरोध दल के नेता तंज कस रहे हैं। राजस्थान में नए मुख्यमंत्री के नाम को लेकर शुरू हुए विवाद के बाद ‘आलाकमान’ शब्द का उपयोग कई बार हो रहा है, इसी पर संबित पात्रा ने कांग्रेस पर तंज कस दिया है।

आज तक चैनल पर चर्चा के दौरान संबित पात्रा ने कहा कि कांग्रेस में शुरू हुए इस विवाद के बाद मैंने सबसे अधिक जो शब्द सुने या जिसका सबसे अधिक प्रयोग किया गया, वो है आलाकमान। संबित पात्रा ने कहा कि ये किस बात का आलाकमान हैं, जिसमें ना आला है और ना ही कमान है। मैं इस नाम को बदलने का प्रस्ताव देता हूं, ताला तमाम। तमाम चुनावों में एक बाद एक राज्यों में ताला लगता जा रहा है तो कांग्रेस अध्यक्ष का नाम आलाकमान नहीं तालाकमान कर देना चाहिए।

कांग्रेस में मचे घमासान पर भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि कांग्रेस में ये जो बवाल चल रहा है, अगर ये लोकतंत्र है तो भगवान उन्हें और लोकतंत्र दें ताकि हमें भी रोज ये देखने को मिले। संबित पात्रा ने कहा कि कांग्रेस पार्टी कॉमेडी ऑफ़ एरर्स है। राहुल गांधी फूटबॉल खेल रहे हैं और विधायक पोलो का मजा ले रहे हैं। संबित पात्रा के इस तंज का जवाब आचार्य प्रमोद कृष्णम और कांग्रेस विधायक खिलाड़ी लाल बैरवा ने दिया है।

आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा कि अशोक गहलोत हमारे पार्टी के वरिष्ठ नेता हैं और आज भी वह कांग्रेस पार्टी के चहेते और भरोसेमंद नेता हैं लेकिन वो पार्टी से बड़े नहीं हो सकते। कांग्रेस महासचिव अजय माकन और मल्लिकार्जुन खडगे कांग्रेस अध्यक्ष के निर्देश पर राजस्थान गए थे, वहां जो उनके साथ जो व्यवहार किया गया वो अजय माकन और मल्लिकार्जुन खडगे की तौहीन नहीं बल्कि कांग्रेस नेतृत्व का तौहीन है। मैं कांग्रेस के तमाम विधायकों को साफ कह देना चाहता हूं कि अगर उन्होंने गलती से अनुशासन की परिधि को पार किया है तो अपनी सफाई पेश करें।

वहीं सचिन पायलट गुट के कांग्रेस विधायक खिलाड़ी लाल बैरवा ने कहा है कि आलाकमान को लेकर जो मजाक उड़ाया जा रहा है, मैं बता दूं कि हमारे आलाकमान का एक इतिहास है, जिसने त्याग और बलिदान झेला है। हमारे यहां आलाकमान का ही फैसला सर्वोपरि है। कोई भी व्यक्ति आलाकमान को नकार नहीं सकता है। अगर कोई (अशोक गहलोत) तीन बार मुख्यमंत्री बना है तो उसे भी आलाकमान ने ही बनाया है।

पढें ट्रेंडिंग (Trending News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 26-09-2022 at 10:49:33 pm
अपडेट