ताज़ा खबर
 

नीतीश कुमार की पार्टी ने उड़ाया अमित शाह का मजाक, प्रवक्‍ता बोले- बीजेपी की हालत देख ऋषि-मुनि हंस रहे होंगे

इस विवाद की शुरुआत तब हुई जब कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के सोमनाथ मंदिर थे। मंदिर के रजिस्टर में गैर हिन्दू के तौर पर एंट्री कराई गई।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार। (File Photo)

हिंदुत्व मुद्दे पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अब अपने ही सहयोगी दल के बीच घिरती हुई नजर आ रही है। बिहार में सहयोगी जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा है कि सरकार को संविधान में संशोधन कर हिंदू कहलाने के लिए एक नियम लाना चाहिए। जिसके तहत जो व्यक्ति प्रतिदिन, प्रतिमाह या हर साल मंदिर जाएगा वहीं हिंदू कहलाएगा। ये बात जेडीयू के प्रवक्ता और महासचिव पवन के वर्मा ने न्यूज एजेंसी एएनआई से कही है। उन्होंने आगे कहा, ‘अमित शाह और भाजपा को संविधान में संशोधन लाना चाहिए। इसमें कहा जाए कि हिंदू कहलाने के लिए सभी नागरिकों को मंदिर जाना होगा। तब अमित शाह किसी को हिंदू होने का प्रमाण पत्र जारी करें।’

पवन शर्मा ने इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी के उस बयान पर भी कटाक्ष किया था जब पीएम ने राजकोट की एक रैली में कहा था कि कांग्रेस उनकी गरीबी का मजाक न उड़ाए। तब उन्होंने ट्विटर पर लिखा था कि यह तथ्य कि नरेंद्र मोदी जी चाय बेचते थे इतने अच्छे तरीके से स्थापित हो चुका है कि इसे बार-बार दोहराए जाने की जरूरत नहीं है, बल्कि भारत विकसित हो चुका है और मुझे लगता है कि मोदी जी ने इसमें योगदान दिया है, अब वे लाखों रुपए की कीमत के सूट पहनते हैं।’

गौरतलब है कि इस विवाद की शुरुआत तब हुई जब कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के सोमनाथ मंदिर थे। मंदिर के रजिस्टर में गैर हिन्दू के तौर पर एंट्री कराई गई। राहुल गांधी के साथ साथ राज्य सभा सांसद और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के राजनीतिक सचिव अहमद पटेल की भी एंट्री गैर हिन्दू के तौर पर कराई गई। मंदिर के सुरक्षा रजिस्टर में यह एंट्री कांग्रेस के मीडिया कॉर्डिनेटर मनोज त्यागी ने कराई। जिसपर विपक्षी पार्टियों ने उनके धर्म को लेकर जोरदार हमला बोला।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App