ताज़ा खबर
 

Video: BJP नेता तरुण विजय ने कविता लिख उरी के वीरों का बदला लेने के लिए ललकारा

उरी हमले में 18 सैनिक मारे गए और 19 अन्य घायल हो गए। सुरक्षा बलों की जवाबी कार्रवाई में चार आतंकी मारे गए।

Author September 20, 2016 4:36 PM
बीजेपी नेता और पूर्व सांसद तरुण विजय की फाइल फोटो।

बीजेपी नेता तरुण विजय ने कविता लिखकर उरी में हुए आतंकी हमले के खिलाफ कार्रवाी करने के लिए ललकारा है। रविवार (18 सितंबर) को जम्मू-कश्मीर के उरी स्थित एक आर्मी कैंप पर आतंकी हमले में 18 जवान शहीद हो गए थे और 19 अन्य जवान घायल हो गए थे। जवाबी कार्रवाई में चार आतंकी मारे गए थे। हमले के बाद से ही भारत के ऊपर जवाबी कार्रवाई करने का दबाव है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि हमले के दोषियों का सजा जरूर दी जाएगा। सूत्रों के अनुसार सोमवार को हुई उच्च स्तरीय बैठक में सैन्य अधिकारियों ने पीएम मोदी को सलाह दी कि तत्काल जवाबी सैन्य कार्रवाई करना उचित नहीं होगा।

पढ़िए तरुण विजय की कविता-

नमन उरी के वीरों के करने से पहले उत्तर दो
श्रद्धासुमन नहीं पहले प्रतिरोधी मन तैयार करो
जिसने हमला किया उसका सर धरती पर डोलेगा
पहले ऐसा देशवासियों को पक्का संदेशा दो
मां दुर्गा की अपने हित पूजा करने से होगा क्या
महिषासुरमर्दिनी की गाथा पढ़ने से तुम सीखे क्या
महिषासुर जिंदा बैठे हैं तुम घड़ियाल बजाते हो
श्रद्धांजलि देने का अपना हुनर रोज दिखाते हो
राजनीति की शतरंजों पर बेहद जितना व्यस्त रहो
देश बचाने वाले सरहद पर शीश चढ़ाते हैं
उनकी मां तुमसे पूछे एक प्रश्न जरा उत्तर देना
कितने अमन फरीश्ते जाकर उसका दुख साझा करते
मुंह से शब्द विलास करो मत दुश्मन को बर्बाद करो
इस जिहाद का सर्प कुचलने अपना मन तैयार करो
ऐसे साहस के क्षण विरलों को इतिहास दिया करता
रुद्र भक्त दुष्टों का गर्म रक्त आगे बढ़ता
करो दलन शत्रु का बन बैरागी बंदा वक्त यही
बर्बर कीट शत्रुओं से अब मुक्त करो यह पुण्य मही
समय गंवाया अगर देश का नया भाग्य लिखेगा कौन
उस शहीद की मां के प्रश्नों का फिर उत्तर देगा कौन
अब इस सड़ी गली नीति के राजप्रपंचों को छोड़ो
जनम जहां पाया उस मां के कर्जों का भुगतान करो
भारत मां आहत है उसके घावों का उपचार करो

तरुण विजय की कविता का वीडियो सुनें-


Read Also: उरी हमले के दो दिन बाद पाकिस्‍तान ने तोड़ा युद्धविराम, भारतीय सेना ने दिया जवाब

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App