ताज़ा खबर
 

VIDEO: कांग्रेस प्रवक्ता की भाषा से नाराज हो मनोज तिवारी ने छोड़ा शो, आरएसएस विचारक भी चलते बने

अखिलेश प्रताप सिंह ने पलटवार करते हुए कहा कि आरएसएस का दशानन या दस मुख वाला चेहरा है। राकेश सिन्हा ने कहा कि वह राजनैतिक बयानबाजी नहीं करेंगे, लेकिन इनका पूरा बयान राजनैतिक है। इस पर मनोज तिवारी भड़क गए।

एक कार्यक्रम में मनोज तिवारी और राकेश सिन्हा बीच कार्यक्रम में चलते बने। (express photo)

एक टीवी कार्यक्रम के दौरान कुछ ऐसा हुआ कि भाजपा नेता और आरएसएस विचारक राकेश सिन्हा कार्यक्रम के बीच में ही मंच छोड़कर चले गए। दरअसल मनोज तिवारी और राकेश सिन्हा को कांग्रेस नेता अखिलेश प्रताप सिंह की भाषा से आपत्ति थी, जिससे नाराज होकर दोनों नेता कार्यक्रम के बीच से ही चलते बने। हालांकि कांग्रेस नेता अखिलेश प्रताप सिंह इसके बावजूद मंच पर डटे रहे और भाजपा और आरएसएस पर जमकर निशाना साधा।

बता दें कि यह घटना इंडिया टीवी के कार्यक्रम संवाद के दौरान घटी। इस कार्यक्रम में कर्नाटक चुनाव और उसके बाद सरकार बनाने के लिए हुई उठा-पटक पर चर्चा चल रही थी। इस पर मनोज तिवारी ने कांग्रेस पर निशाना साधा और कांग्रेस और जेडीएस के गठबंधन को कटघरे में खड़ा किया। वहीं आरएसएस विचारक राकेश सिन्हा ने कहा कि वह राजनैतिक बात नहीं करेंगे, लेकिन उन्होंने कांग्रेस के शासनकाल में हुए भ्रष्टाचार पर सवाल खड़े किए और अपने बयान में पंडित जवाहरलाल नेहरु और पीवी नरसिम्हा राव के समय में हुए घोटालों का जिक्र किया। इस पर अखिलेश प्रताप सिंह ने भी पलटवार करते हुए कहा कि आरएसएस का दशानन या दस मुख वाला चेहरा है। राकेश सिन्हा ने कहा कि वह राजनैतिक बयानबाजी नहीं करेंगे, लेकिन इनका पूरा बयान राजनैतिक है।

अखिलेश प्रताप सिंह के इस बयान पर मनोज तिवारी ने उनकी भाषा पर आपत्ति जतायी। इस पर अखिलेश सिंह ने कहा कि हां, ये ही राजनैतिक भाषा है। जिस पर मनोज तिवारी भड़क गए और कार्यक्रम छोड़कर जाने लगे। जब एंकर ने उन्हें रोका तो उन्होंने कहा कि हम यहां राजनैतिक मुद्दों पर बात करने आए थे, लेकिन अगर यहां भी इस तरह की भाषा का इस्तेमाल होगा तो वह इस कार्यक्रम में नहीं रह सकते। इसके बाद मनोज तिवारी मंच से उतरे और कार्यक्रम बीच में ही छोड़कर चले गए। मनोज तिवारी के जाने के बाद राकेश सिन्हा भी मंच से उतरे और कार्यक्रम से चले गए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App