ताज़ा खबर
 

बीजेपी नेता का दावा, अमित शाह की रैली में जुटे 5 लाख लोग, शख्‍स बोला- फिर कुर्सियां क्‍यों रह गईं खाली?

भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय ने दावा किया कि अमित शाह की कोलकाता रैली में 5 लाख लोग जुटे। उनके इस दावे पर तंज करते हए लोगों ने कहा कि फिर कुर्सियां खाली क्यों रह गई।

अमित शाह कोलकाता रैली (Photo source: Twitter/Kailash Vijayvargiya)

शनिवार को पश्चिम बंगाल के कोलकाता में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने रैली को संबोधित किया। रैली के बाद भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव और पश्चिम बंगाल इकाई के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने ट्वीट किया कि, “आज कोलकाता में माननीय राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह जी को सुनने आए पांच लाख से ज्यादा लोगों ने ये प्रमाणित कर दिया कि शोनार बांग्ला के निर्माण हेतु पश्चिम बंगाल हर कदम पर बीजेपी के साथ खड़ा है।” साथ ही उन्होंने कहा कि लाखों लोगों का जनसैलाब कोलकाता की सड़क पर उमड़ा है। अगली बार पश्चिम बंगाल में भी भाजपा की सरकार बनेगी। उनके इस ट्वीट पर यूजर्स ने रिट्वीट करते हुए पूछा कि जब इतने लोग अाए थे तो कुर्सियां खाली क्यों रह गई? एक दूसरे यूजर ने कमेंट किया कि कैलाश जी, पांच लाख लोगों का समावेश हो…इतनी जगह मायो रोड पर नहीं है!

कैलाश विजयवर्गीय के ट्वीट पर कुछ लोगों ने उनका साथ देते हुए तृणमूल कांग्रेस पर निशाना साधा।

इससे पहले कैलाश विजयवर्गीय ने एक ट्वीट कर कहा कि आज बंगाल की धरती पर अमित शाह ने युवाओं को जागरूकता संदेश दिया।

बता दें कि रैली में अमित शाह विरोधियों पर जमकर निशाना साधा। एनआरसी मुद्दे पर कांग्रेस और ममता बनर्जी पर तीखा प्रहार किया। कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को असम में राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) के मुद्दे पर अपना रुख स्पष्ट करना चाहिए। उन्होंने दावा किया कि उनकी पार्टी तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी के विरोध के बावजूद घुसपैठियों की पहचान के लिए पंजीकरण प्रक्रिया पूरा करने को प्रतिबद्ध है। हमारी यह प्रतिबद्धता है कि सभी घुसपैठियों की एक-एक कर पहचान करें। आज उन्हीं बांग्लादेशी घुसपैठियों का इस्तेमाल तृणमूल अपने वोटबैंक के लिए कर रही है। लेकिन हम भारतीय जनता पार्टी के नेता हैं, हमारे लिए देश पहले आता है, बाद में वोटबैंक।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App