scorecardresearch

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने शराब पर दिया ‘ज्ञान’, कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह बोले- ‘तो लिया करें…’

भोपाल की सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने शराब को औषधि बताया है। इस पर कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने प्रतिक्रिया दी है।

Digvijaya Singh, Congress, Rahul Gandhi
कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह (फाइल फोटो)

बीजेपी नेता और भोपाल से सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह अपने बयानों को लेकर अक्सर सुर्ख़ियों में रहती हैं। मध्य प्रदेश सरकार नई आबकारी नीति लेकर आई है जो 1 अप्रैल 2022 से लागू होगी। नई नीति लागू होने के बाद प्रदेश में शराब सस्ती हो जाएगी। इस पर जब पत्रकारों ने भाजपा सांसद साध्वी प्रज्ञा से प्रतिक्रिया लेनी चाही तो उन्होंने शराब को लेकर अजीबोगरीब बयान दे दिया। जिसमें वह शराब कम मात्रा में लेने से औषधि की तरह काम करने की बात कहती सुनाई दे रही हैं। अब प्रज्ञा सिंह ठाकुर के बयान पर दिग्विजय सिंह ने प्रतिक्रिया दी है।

कांग्रेस नेता बोले-‘…तो लिया करें’: जब साध्वी प्रज्ञा के बयान को लेकर कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह से पूछा गया कि साध्वी प्रज्ञा कह रही है कि शराब एक औषधि की तरह काम करती है, क्या कहना है आपका? दिग्विजय सिंह कहते हैं कि ‘अगर औषधि है तो पिया करें’।

आम लोगों ने भी दी प्रतिक्रिया: साध्वी प्रज्ञा सिंह के इस बयान पर आम लोगों ने भी अपनी प्रतिक्रया दी है। अमित शर्मा नाम के यूजर ने लिखा कि साध्वी जी का शुक्रिया, मतलब कम मात्रा में लेने से हिंदुत्व खतरे में भी नही आएगा और देशभक्ति भी बनी रहेगी। कौशल नाम के यूजर ने लिखा कि मोदी जी इसे फिर माफ़ नहीं कर पाएंगे क्योंकि ये सुनकर गुजरात वाले भी औषधि की मांग करे सकते हैं।

निशांत तिवारी ने लिखा कि दिल्ली में बीजेपी शराब बिक्री पर केजरीवाल के खिलाफ विरोध जाहिर कर रही थी, मगर इन मोहतरमा के बारे में क्या कहेगी। यह एक कदम और आगे चल पड़ी। वहीं कई लोग साध्वी प्रज्ञा सिंह के बयान का समर्थन भी करते आए। उनका कहना है कि आयुर्वेद में पहले से ही शराब को औषधि के रूप में इस्तेमाल किया जाता रहा है।

शराब पर साध्वी प्रज्ञा का बयान: दरअसल शराब को लेकर साध्वी प्रज्ञा सिंह ने कहा है कि “शराब सस्ती हो या महंगी हो, शराब औषधि का काम करती है। आयुर्वेद में शराब यानी अल्कोहल जो होता है, सीमित मात्रा में वह औषधि होती है और असीमित मात्रा में वो जहर होता है। इस बात को सबको समझना चाहिए और जो अधिक मात्रा में लेते हैं ,उनको इसका सेवन बंद करना चाहिए।

बता दें कि मध्य प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान सरकार नई आबकारी नीति लेकर आई है, जो 1 अप्रैल 2022 से लागू हो जाएगी। नई आबकारी नीति के तहत प्रदेश में शराब सस्ती हो जाएगी। इसी पर साध्वी प्रज्ञा प्रतिक्रिया दे रहीं थीं। कांग्रेस नेता अजय सिंह ने सरकार के इस फैसले का विरोध करते हुए कहा, ”उमा भारती क्या कर रही हैं। उमा भारती ने कहा कि नशाबंदी को लेकर वह प्रांतव्यापी आंदोलन करेंगी, लेकिन वह अब कहां हैं?”

पढें ट्रेंडिंग (Trending News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट