ताज़ा खबर
 

चेतन भगत ने बताया कांग्रेस राज में ज्‍यादा गुस्‍सा क्‍यों आता था, हो गए ट्रोल

Bharat Band, Bharat Bandh Today on 10th September 2018 News (भारत बंद): चर्चित लेखक चेतन भगत एक बार फिर से ट्रोल हो गए हैं। इस बार भगत ने तेल की ऊंची कीमतों पर अपनी नाराजगी के संबंध में ट्वीट किया था। चेतन भगत ने अपनी ट्वीट में ये समझाने की कोशिश की थी कि आखिरकार वह पिछली सरकार पर वर्तमान सरकार से ज्यादा क्यों नाराज हैं?

चेतन भगत। (express photo by pradeep das)

भारत बंद, Bharat Bandh Today: सोशल मीडिया पर अपने कथित तौर पर विवादित ट्वीट के कारण चर्चित रहने वाले लेखक चेतन भगत एक बार फिर से ट्रोल हो गए हैं। इस बार चेतन भगत ने तेल की ऊंची कीमतों पर अपनी नाराजगी के संबंध में ट्वीट किया था। चेतन भगत ने अपनी ट्वीट में ये समझाने की कोशिश की थी कि आखिरकार वह पिछली सरकार पर वर्तमान सरकार से ज्यादा क्यों नाराज हैं? जबकि पेट्रोलियम पदार्थों की महंगाई अब ज्यादा है।

HOT DEALS
  • Honor 7X Blue 64GB memory
    ₹ 16010 MRP ₹ 16999 -6%
    ₹0 Cashback
  • Honor 7X Blue 64GB memory
    ₹ 16010 MRP ₹ 16999 -6%
    ₹0 Cashback

चेतन भगत ने अपने ट्वीट में लिखा, ” पिछले शासनकाल में ईंधन की ऊंची कीमतों की ओर इशारा करके जो लोग मुझसे पूछते हैं कि क्यों मैं पहले से ज्यादा नाराज हूं? क्या ये (वर्तमान सरकार) भी वही नहीं करती है। तब हमें हर हफ्ते ऊंची कीमतों के साथ एक घोटाला भी मिलता था। एक विद्यार्थी जो नकल करके भी कम नंबर लाया हो, उस विद्यार्थी की तुलना में ज्यादा डांट खाता है जो सिर्फ कम नंबर लाया हो।”

चेतन भगत के इस ट्वीट के बाद ट्विटर पर मौजूद ट्रोलर्स ने उन्हें ट्रोल करना शुरू कर दिया। एक यूजर वीना डी ने भगत से कहा, नोटबंदी और राफेल घोटाला क्या हैं? अगर ये मोदी सरकार ने किया है तो फिर ये देश के हित में है। क्या यही देश भक्ति है? वहीं अन्य यूजर संजीव के ने लिखा कि आपका मतलब है कि देश में कोई घोटाला नहीं हुआ अगर उसे मीडिया ने नहीं उठाया या फिर वह चर्चित नहीं हुआ। हां यूपीए के वक्त में घोटाले हुए और पार्टी को उसका खामियाजा भुगतना पड़ा। क्या नोटबंदी सं​गठित अपराध नहीं था? कौन जानता है कि पेट्रोल और डीजल की कीमतें कहां तक जाएंगीं? क्या हुआ व्यापमं? जनवितरण प्रणाली, खनन और अन्य को क्यों नहीं गिनते?

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App