ताज़ा खबर
 

हिजाब में बार्बी डॉल को देख इंटरनेट पर छिड़ी बहस

कंपनी ने लिखा कि फेंसर इब्तिहाज मुहम्मद के सम्मान में इसे लॉन्च किया गया है। इससे लड़कियों के सपनों को प्रेरणा मिलेगी और साथ ही साथ उन्हें खुद पर गर्व होगा कि आखिर क्या उन्हें अलग बनाता है। आपको बता दें कि 32 साल की फेंसर को पहली अमेरिकी एथलीट के तौर पर जाना जाता है जिन्होंने यूएस में आयोजित ओलंपिक प्रतियोगिता में हिजाब पहना था।

‘बार्बी डॉल’ के इस लुक पर बहस छिड़ गई है। फोटो सोर्स – इंडियन एक्सप्रेस

मशहूर ‘बार्बी डॉल’ को लेकर सोशल मीडिया पर अचानक ही लोगों के बीच वाक् युद्ध छिड़ गया है। अब तक कंपनी ने ‘बार्बी डॉल’ को अलग-अलग कई रुपों में लोगों के बीच रखा है, जिसे काफी पसंद किया गया है। हाल ही में ‘बार्बी डॉल’ का एक और रुप सामने आया है। ‘बार्बी डॉल’ का यह रुप अमेरिकन ओलंपिक एथलीट इब्तिहाज मुहम्मद से प्रेरित है। कंपनी ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से ‘बार्बी डॉल’ के नये लुक को शेयर किया है। इसमें ‘बार्बी डॉल’ हिजाब पहनी नजर आ रही है। कंपनी ने लिखा कि फेंसर इब्तिहाज मुहम्मद के सम्मान में इसे लॉन्च किया गया है। इससे लड़कियों के सपनों को प्रेरणा मिलेगी और साथ ही साथ उन्हें खुद पर गर्व होगा कि आखिर क्या उन्हें अलग बनाता है। आपको बता दें कि 32 साल की फेंसर को पहली अमेरिकी एथलीट के तौर पर जाना जाता है जिन्होंने यूएस में आयोजित ओलंपिक प्रतियोगिता में हिजाब पहना था।

‘बार्बी डॉल’ के इस लुक के सामने आने के बाद सोशल मीडिया पर कई तरह की प्रतिक्रियाएं देखने को मिल रही हैं। इब्तियाज मुहम्मद ने इसपर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए लिखा कि ‘आखिरकार वो यहां है। मैं खुश हूं कि आज से इब्तिहाज बार्बी डॉल आपके पास होगी।’ एक दूसरे यूजर ने इसपर प्रतिक्रिया देते हुए लिखा कि ‘खेल को सपोर्ट करने के लिए बहुत-बहुत बधाई। आगे भी ऐसी कोशिशों को देखना अच्छा होगा।’

एक यूजर ने लिखा कि ‘मुझे यह काफी पसंद आय़ा। बार्बी को सिर्फ सुदंरता को ही नहीं दिखाना चाहिए बल्कि इसे सकारात्मकता और सपनों को भी दिखाना चाहिए।’ एक यूजर ने इसपर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए लिखा कि ‘दुनिया के दूसरे हिस्सों में महिलाएं आज भी अपने अधिकारों के लिए जंग लड़ रही हैं। यहां तक की हिजाब नहीं पहनने की छोटी सी बात को लेकर भी। जबकि इसी दुनिया के एक अन्य हिस्से में कोई बार्बी को भी हिजाब पहनता है। मुझे आशा है कि उस बार्बी के पास इतनी स्वतंत्रता होगी कि वो जब चाहे इसे हटा सकती है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App