ताज़ा खबर
 

VIDEO: अरनब के साथ बहस में बोले मुफ्ती, ‘अयोध्‍या में 500 साल से मस्जिद थी, है और हमेशा रहेगी’

रविवार दोपहर रिपब्लिक टीवी पर 'आर डिबेट' शो आ रहा था। राम मंदिर मसले पर इसमें चर्चा हो रही थी।
टीवी डिबेट में राम मंदिर मसले पर मुफ्ती ने यह भी कहा कि देश का हिंदू और मुसलमान अपनी-अपनी आस्थाओं को लेकर 25 सालों से तड़प रहा है।

राम मंदिर का मुद्दा इन दिनों गर्माया हुआ है। शनिवार को एक टीवी डिबेट में मुस्लिम धर्मगुरु आपा खो बैठे। कहने लगे अयोध्या में 500 सालों से मस्जिद थी। है और जिंदगी भर रहेगी। लेकिन आप चाहते हैं कि उसे तोड़ दिया जाए। डिबेट में यह मुफ्ती राम मंदिर मुद्दे पर निपटारे के पक्ष में नहीं थे। उन्होंने आगे बताया कि देश का हिंदू और मुसलमान 25 सालों से तड़प रहा है, जिस पर एक अन्य वक्ता ने उनकी बोलती बंद कर दी। आलम यह था कि मुफ्ती साहब ने चर्चा की दिशा ही बदल दी।

रविवार दोपहर रिपब्लिक टीवी पर ‘आर डिबेट’ शो आ रहा था। राम मंदिर मसले पर इसमें चर्चा हो रही थी। टीवी एंकर अरनब गोस्वामी डिबेट के मॉडरेटर थे। उनके साथ शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी, मुस्लिम धर्मगुरु मुफ्ती मो. मंजूर जिया और भाजपा नेता नुपूर शर्मा मौजूद थीं। एक सवाल के जवाब पर मंजूर जिया नुपूर ने कहा, “500 सालों से मस्जिद थी और आज भी वह है। वहां जिंदगी भर के लिए मस्जिद रहेगी। जहां मस्जिद बनाई गई है, वहां मस्जिद ही रहेगी। लेकिन आप तो यह चाहते हैं कि उसे तोड़ दिया जाए। वहां मस्जिद थी, मस्जिद है और मस्जिद रहेगी। याद रखें कि आपने इसे जो मंदिर का मुद्दा बनाने की कोशिश की है।”

मामले के निपटारे के पक्ष में एक वक्ता ने कहा कि लूट की जगह पर मस्जिन नहीं बनती। उसके नीचे मंदिर था। वहां मंदिर था। मंदिर था, मंदिर है और मंदिर रहेगा। इस पर मंजूर जिया बोले, “25 सालों से देश का हिंदुस्तान और मुस्लिम रो रहा है। बिलख रहा है। तड़प रहा है। परेशान है। अपनी-अपनी आस्थाओं को लेकर। हिंदू राम जन्म भूमि को लेकर तड़प रहा है। मुस्लिम तड़प रहा है मस्तिज को लेकर।” जवाब में वही वक्ता बोले कि मुससमान नहीं तड़प रहे, बल्कि कुछ लोग तड़प रहे हैं। वो तड़प रहे हैं, जिनकी बाबरी मस्जिद पर दुकानें चल रही हैं। देखिए इस पर मुफ्ती साहब का क्या जवाब आया-

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App