ताज़ा खबर
 

वीडियो: बाबा रामदेव ने बताया चायवाले का बेटा कैसे बना PM, नाथ संप्रदाय के योगी कैसे हुए सीएम

इस दौरान योगगुरु बाबा रामदेव ने बताया कि लोगों को मजहब की सीमा से बाहर निकलकर लोगों को सुबह एक घंटा योग, परिश्रम, दौड़ और कुश्ती करनी चाहिए। इससे आपकी भुजाओं में ताकत आती है।

Author नई दिल्ली | June 16, 2017 11:12 PM
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बाबा रामदेव। (Source: PTI)

21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस को लेकर देशभर में योग कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। योग दिवस को लेकर तैयारियां जोरो पर है। बाबा रामदेव ने योग दिवस को लेकर लोगों को योग का अभ्यास करा रहे हैं। पिछले दिनों योगगुरु रामदेव ने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ और राज्यपाल राम नाईक के साथ योग अभ्यास किया था। शुक्रवार को उन्होंने दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में योग अभ्यास कराया। इस दौरान न्यूज 18 के पत्रकार ने जब योगगुरु से योग को लेकर सवाल पूछा तो उन्होंने कहा कि सभी खिलाड़ियों को योग करना चाहिए चाहे वो किसी भी खेल में हो। यहां तक कि राजनीति के मैदान में भी। आज एक चाय बेचने वाले का बेटा प्रधानमंत्री बना है और एक नाथ परंपरा का योगी राज्य का मुख्यमंत्री बना है तो इसके पीछे है योग की ताकत। नहीं तो एक कुल खानदान वंश परंपरा में तो यहां पर बहुत से लोग थे।

इस दौरान योगगुरु बाबा रामदेव ने बताया कि लोगों को मजहब की सीमा से बाहर निकलकर लोगों को सुबह एक घंटा योग, परिश्रम, दौड़ और कुश्ती करनी चाहिए। इससे आपकी भुजाओं में ताकत आती है। बता दें कि मुस्लिम समुदाय के धर्मगुरु योग करने को लेकर अक्सर सवाल उठाते रहे हैं। उनका कहना है कि उन्हें योग से आपत्ति नहीं बल्कि योग की शुरुआत में होने वाले प्रार्थना से आपत्ति है। सुन्नी समुदाय के मौलवी और ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्य मौलाना खालिद राशीद फिरंगी महली ने कहा था, “तब तक मुस्लिमों को इंटरनेशनल योगा डे सेलिब्रेशन में भाग लेने में कोई दिक्कत नहीं था, जब तक कि इसमें किसी तरह की पूजा शामिल नहीं थी। योग अच्छी चीज है और अभ्यास की जाने वाली प्रक्रिया है। मुसिलमों को केवल योग उत्सव के दौरान होने वाली पूजा से खुद को दूर रखना चाहिए।

मुसलमानों के योग करने को लेकर लंबे समय से बहस चल रही है। कुछ लोगों का मानना है कि यह धर्म का हिस्सा है और कुछ लोग का कहना कि यह सिर्फ एक शारीरिक प्रक्रिया है। बता दें कि 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का आयोजन किया गया है। इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ के शामिल होने की उम्मीद है। खबरों के मुताबिक इस बार के इंटरनेशनल योग डे के प्रोग्राम में 55,000 लोगों के साथ 300 मुस्लिम पुरुष और महिलाएं हिस्सा लेंगी।

 

 

बाबा रामदेव के खिलाफ अरेस्ट वारंट पर सस्पेंस: योगगुरु के प्रवक्ता ने कहा, नहीं जारी किया गया है कोई समन

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App