बेटे को सपरिवार हॉस्टल छोड़ आए असम के सीएम, कहा- हमारे आशीर्वाद के साथ शुरू हुआ नया सफर

हेमंत ने कहा था कि वह नहीं चाहते कि उनका बेटा राजनीति में आए। वह राजनीति से जितना दूर रहे उतना ही अच्छा है। उनका कहना था कि नेता के तौर पर वह खुद जितनी चुनौती झेलते हैं, उन्हें नहीं लगता कि उनका बेटा उनसे दो-चार हो सकेगा।

assam, cm hemanta, karnatak
असम के सीएम हेमंत सरमा के बेटे ने नेशनल स्कूल ऑफ लॉ ज्वाइन किया है। (फोटोः ट्विटर @himantabiswa)

असम के सीएम हेमंत सरमा के बेटे ने नेशनल स्कूल ऑफ लॉ ज्वाइन किया है। रविवार को हेमंत ने एक फोटो सोशल मीडिया पर शेयर की, जिसमें सीएम, उनकी पत्नी व बेटी-बेटा लॉ कॉलेज के छात्रावास में मौजूद दिखे। सीएम ने अपने ट्विटर पर लिखा- उनके बेटे नन्दील ने इस हास्टल रूम से एक नई यात्रा शुरू की है। हमने बहुत सा आर्शिवाद देकर उन्हें स्कूल में ड्राप कर दिया है। हमारे आशीर्वाद के साथ शुरू हुआ उनका नया सफर।

नन्दील सरमा दून स्कूल के छात्र रहे हैं। वह दून के मेधावी छात्रों में शुमार रहे और स्कूल कैप्टन भी बने। हेमंत ने नन्दील के भाषण का एक वीडियो भी शेयर किया, जिसमें उनका बेटा अपनी जीवन यात्रा के बारे में बात कर रहा है। इसमें वह कहते दिखता है कि कैसे वह अपने डोरमेट्री से बाहर निकलने में भी डरता था, लेकिन एक दिन स्कूल कैप्टन तक बन गया।

हेमंत सरमा 2015 तक कांग्रेस नेता के तौर पर जाने जाते थे। लेकिन उसके बाद वह बीजेपी में शामिल हो गए। 2016 का चुनाव जीतकर वह असम के कैबिनेट मंत्री बने। बीजपी के केन्द्रीय नेतृत्व ने उन्हें 2016 में नार्थ ईस्ट डेमोक्रेटिक अलायंस (नेडा) का प्रमुख वनाया गया। सरमा ने 7 जून 2001 को रिनिकी भूया सरमा से शादी की। उनके परिवार में एक बेटा नन्दील बिस्वा सरमा और एक बेटी सुकन्या सरमा है। 2021 में बीजेपी की असम में जीत के बाद वह सीएम बने। उन्होंने 10 मई 2021 को असम के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली।

टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में हेमंत ने कहा था कि वह नहीं चाहते कि उनका बेटा राजनीति में आए। वह राजनीति से जितना दूर रहे उतना ही अच्छा है। उनका कहना था कि नेता के तौर पर वह खुद जितनी चुनौती झेलते हैं, उन्हें नहीं लगता कि उनका बेटा उनसे दो-चार हो सकेगा। सरमा का कहना है कि बेटा उनके पदचिन्हो पर न चले ये उनकी दिली इच्छा है।

उधर, सोशल मीडिया पर लोगों ने सीएम के जज्बे की तारीफ की। किरन ने लिखा- सीएम ने अपने बेटे को लॉ स्कूल में ड्राप किया। अपने बिजी शेड्यूल को दरकिनार कर वह परिवार के साथ चहकते दिखे। वह अपना पितृधर्म नहीं भूले, यह बात काबिले तारीफ है। हेमंत की तरीफ में उन्होंने लिखा कि वह 22 कैरेट सोने के बने हैं। एक मध्यवर्गीय पिता जो काम करता है वैसे ही उन्होंने किया। तेंजिन एन भूटिया ने लिखा- आखिर में हम सारे ह्यूमन ही हैं। फोटो से साफ झलक रहा है कि सीएम होने के बावजूद कैसे हेमंत परिवार के लिए फिक्रमंद रहते हैं।

पढें ट्रेंडिंग समाचार (Trending News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट