SP के विधायक बोले – विधानसभा में नमाज पढ़ने के लिए बनाया जाए कमरा, असदुद्दीन ओवैसी ने पूछा – इसपर अखिलेश यादव क्यों नहीं खोलते मुंह

यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन के समापन समारोह के दौरान बीजेपी और सपा पर जमकर हमला बोला है।

Uttar Pradesh, Yogi Adityanath
सपा प्रमुख अखिलेश यादव व सांसद असदुद्दीन ओवैसी (फोटो सोर्स – पीटीआई)

उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी के विधायक हाजी इरफान सोलंकी ने प्रदेश सरकार से मांग की है कि विधान भवन में नमाज के लिए एक अलग कमरा बनाया जाए। सपा के विधायक ने यह बात तब कही है जब झारखंड सरकार के द्वारा वहां की विधानसभा में नमाज के लिए अलग कमरा उपलब्ध कराया गया है। उनके इसी बयान पर यूपी दौरे पर आए एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने अखिलेश यादव से कहा है कि इस पर वह मुंह क्यों नहीं खोलते हैं?

असदुद्दीन ओवैसी इन दिनों उत्तर प्रदेश की राजनीति में सक्रिय हैं। वह मंगलवार से 3 दिनों के प्रदेश दौरे पर हैं। अपने दौरे की शुरुआत उन्होंने अयोध्या से की है। इसी दौरान उन्होंने मीडिया से बातचीत करते हुए समाजवादी पार्टी के विधायक हाजी इरफान सोलंकी के बयान पर कहा है कि इस पर अखिलेश यादव की क्या राय है?

इसके साथ ही असदुद्दीन ओवैसी ने सपा प्रमुख से सवाल किया है कि ये बात अखिलेश यादव अपने मुंह से क्यों नहीं बोलते? उन्होंने सपा प्रमुख पर निशाना साधते हुए कहा कि ये सिर्फ इस तरह की बातें करते हैं, जब मुजफ्फरनगर कांड हुआ उस वक्त तो इनकी जुबान बंद थी। असदुद्दीन ओवैसी ने सपा और बसपा पर मुसलमानों का इस्तेमाल करने का आरोप लगाते हुए कहा कि सपा और बसपा के गठबंधन के बावजूद बीजेपी जीत गई। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में मुसलमानों की हालत बेहद खराब है।

इसके साथ ही उन्होंने कहा है कि उत्तर प्रदेश में 100 सीटों पर उनकी पार्टी चुनाव लड़ेगी। उन्होंने इन सीटों पर जीत का दावा करते हुए कहा कि 60 सालों तक सबको जिताया, अब हम जीतेंगे। जानकारी के लिए बता दें कि यूपी के बाहुबली नेता अतीक अहमद की पत्नी शाइस्ता परवीन ने आज ओवैसी की मौजूदगी में पार्टी की सदस्यता ले ली है।

जानकारी के लिए बता दें कि बसपा प्रमुख व यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन के समापन समारोह के दौरान बीजेपी और सपा पर जमकर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि सपा या बीजेपी सरकार में जातिवादी, संकीर्ण और पूंजीवादी सोच होने के कारण गरीब मजदूरों, कर्मचारियों, किसानों और प्रबुद्ध वर्ग में से ब्राह्मणों का उत्पीड़न हुआ है।

पढें ट्रेंडिंग समाचार (Trending News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट