पहले तो अस्पताल और यूनिर्सिटी बनाने की करते थे बात – राममंदिर के दर्शन को पहुंचे मनीष सिसोदिया को यूं ट्रोल कर रहे लोग

उन्होंने एक इंटरव्यू के दौरान राम मंदिर पर पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए कहा था कि मंदिर और मस्जिद दोनों वालों से पूछ लिया जाए अगर उनकी सहमति बने तो वहां एक अच्छी यूनिवर्सिटी बना दी जाए।

Uttar Pradesh, Yogi Adityanath
दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया (फोटो सोर्स – पीटीआई)

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर सभी राजनीतिक पार्टियां तैयारी करने में लगी हुई हैं। दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया आम आदमी पार्टी को यूपी में मजबूत करने के लिए अयोध्या पहुंचे हैं। इस दौरान उनके साथ आप पार्टी के यूपी प्रभारी संजय सिंह भी मौजूद हैं। दिल्ली के डिप्टी सीएम अयोध्या में साधु संतों के साथ मुलाकात करने के बाद रामलला और हनुमानगढ़ी के दर्शन करेंगे।

अयोध्या जाने की जानकारी मनीष सिसोदिया ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से देते हुए लिखा कि आज रामलला के दर्शन करने जा रहा हूँ। अयोध्या में प्रभु श्रीराम ने जनता की ख़ुशहाली की सत्ता का ऐसा मानक स्थापित किया कि ‘राम राज’ आज भी स्वच्छ शासन-प्रशासन की सर्वोच्च प्रेरणा माना जाता है। प्रभु चरणों में यही विनती है कि हमारे विचारों को सदैव पवित्र बनाए रखने की कृपा बनी रहे।

उनके इसी ट्वीट पर लोग उनका एक पुराना वीडियो व ट्वीट शेयर करते हुए उन्हें ट्रोल कर रहे हैं। दरअसल उन्होंने एक टीवी चैनल को दिए गए इंटरव्यू के दौरान राम मंदिर पर पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए कहा था कि मंदिर और मस्जिद दोनों वालों से पूछ लिया जाए अगर उनकी सहमति बने तो वहां एक अच्छी यूनिवर्सिटी बना दी जाए।

उन्होंने यह भी कहा था कि जिसमें हिंदू, मुस्लिम, और इसाई सभी धर्मों के बच्चे पढ़ाई करेंगे। वहां पर यूनिवर्सिटी बनें, वहीं से राम के सिद्धांतों को निकालो। राम मंदिर बना देने से राम राज्य की स्थापना नहीं हो सकती। पढ़ाने से रामराज्य आएगा। साथ ही उनका एक ट्वीट भी शेयर किया जा रहा है जिसमें उन्होंने कहा था कि अगर चुनावों से पहले ‘मंदिर – दर्शन’ की जगह ‘ सरकारी स्कूलों के दर्शन ‘ कि राजनीतिक परंपरा होती तो देश के हर बच्चे को बेहतरीन शिक्षा मिल रही होती।

एक टि्वटर यूजर ने उनके ट्वीट पर उनका पुराना वीडियो शेयर करते हुए लिखा कि यूनिवर्सिटी बनाने वाले थे न, अब क्या हुआ? चुनाव आते ही फर्जी राम भक्त बन गए? @TheVipin_ ट्विटर अकाउंट से कमेंट किया गया कि श्री राम मंदिर की जगह नमस्ते बनाने का सुझाव देने वाले सिसोदिया आज रामलला के दर्शन करने अयोध्या जा रहे हैं। ऐसे बहरूपिया से सावधान रहने की जरूरत है, ऐसे लोग ही वर्तमान के असली जयचंद हैं। एक ट्विटर यूजर उनके इस ट्वीट पर कमेंट करते हुए लिखती हैं कि ऐसे लोग आज उसी रामलला के दर्शन करने जा रहे हैं, जिनका अस्तित्व ही मंदिर विरोध पर टिका हुआ है। मनीष सिसोदिया के ट्वीट पर तमाम लोग इस तरह की प्रतिक्रिया दे रहे हैं, लोगों का कहना है कि चुनाव से ठीक पहले मंदिर दर्शन करने जाना आम आदमी पार्टी का ढोंग है।

पढें ट्रेंडिंग समाचार (Trending News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट