Arvind Kejriwal attend Dinner party with Arun Jaitley, twitterati make fun of them - अरुण जेटली के साथ अरविंद केजरीवाल का डिनर, लोग ले रहे मजे - Jansatta
ताज़ा खबर
 

अरुण जेटली के साथ अरविंद केजरीवाल का डिनर, लोग ले रहे मजे

बहुत से यूजर्स लिख रहे हैं कि अरविंद केजरीवाल दोनों से माफी मांगने गये होंगे। लोग लिख रहे हैं कि अरविंद केजरीवाल के साथ जो इन दोनों की कानूनी लड़ाई चल रही है उसी के लिए दिल्ली सीएम माफी मांगने गए होंगे।

अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया वित्त मंत्री अरुण जेटली के साथ। ये तस्वीर ट्विटर पर वायरल हो रही है।

गुरुवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल अपने प्रतिद्वंदी बीजेपी लीडर अरुण जेटली और नितिन गडकरी से मिले। केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के साथ उन्होंने यमुना सफाई अभियान पर चर्चा की। वहीं शाम को वो वित्त मंत्री अरुण जेटली के साथ डिनर पार्टी में दिखे। ये डिनर पार्टी जीएसटी काउंसिल की तरफ से आयोजित थी। दोनों ही नेताओं से अरविंद केजरीवाल काफी गर्मजोशी से मिले। इस मुलाकात की तस्वीरें भी सामने आईं। तस्वीरें सामने आते ही ये सोशल मीडिया में वायरल होने लगीं। लोग इन तस्वीरों के जरिये अरविंद केजरीवाल के मजे ले रहे हैं। बीजेपी नेताओं से केजरीवाल की मुलाकात पर लोग लिख रहे हैं कि बदले-बदले से सरकार नजर आते हैं।

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के साथ अरविंद केजरीवाल। (फोटो-ट्विटर) वित्त मंत्री अरुण जेटली के साथ अरविंद केजरीवाल। (फोटो-ट्विटर) वित्त मंत्री अरुण जेटली के साथ अरविंद केजरीवाल। (फोटो-ट्विटर)

आपको बता दें कि अरविंद केजरीवाल का इन दोनों ही नेताओं के साथ कानूनी विवाद चल रहा है। जहां नितिन गडकरी ने उनपर मानहानि का मुकदमा किया था वहीं अरुण जेटली पर डीडीसीए में घोटाले को लेकर अरविंद केजरीवाल ने केस फाइल किया हुआ है। इतनी कानूनी तल्खी के बाद जब केजरीवाल की इन दोनों से मुलाकात हुई तो ट्विटर यूजर्स ने मजे लेने शुरू कर दिये।

जहां कुछ यूजर्स इस मुलाकात पर लिख रहे हैं कि क्या पीएम मोदी को अपने इन दोनों मंत्रियों से ये नहीं पूछना चाहिए कि जिसने उन्हें कायर और सनकी कहा उससे क्यों मिल रहे हैं। वहीं बहुत से यूजर्स लिख रहे हैं कि अरविंद केजरीवाल दोनों से माफी मांगने गये होंगे। लोग लिख रहे हैं कि अरविंद केजरीवाल के साथ जो इन दोनों की कानूनी लड़ाई चल रही है उसी के लिए दिल्ली सीएम माफी मांगने गए होंगे। कुछ यूजर्स ये भी लिख रहे हैं कि राजनीति में कोई भी स्थायी दोस्त या दुश्मन नहीं होता।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App