ताज़ा खबर
 

फ्लाइट में क्रू की चेतावनी के बावजूद रिपब्लिक टीवी की रिपोर्टर ने तेजस्‍वी यादव से पूछे सवाल, ट्विटर पर लोगों ने लगा दी क्‍लास

ट्वीट के बाद चैनल और रिपोर्टर की नाराजगी का सामना करना पड़ा है। कई यूजर्स ने क्रू मेंबर्स की बात ना मानने के लिए उन्हें कड़ी फटकार लगाई है।
प्लाइट में जबरन उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव का इंटरव्यू लिए जाने पर यूजर्स ने चैनल के प्रति अपनी नाराजगी जाहिर की है। (फोटो सोर्स ट्विटर)

अरनब गोस्वामी के चैनल रिपब्लिक टीवी को राष्ट्र विरोधी बताने वाले बिहार के उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने अपने ऊपर लगे घोटालों के आरोप के बाद पहली बार किसी टीवी चैनल को अनचाहा इंटरव्यू दिया। इंटरव्यू रिपब्लिक की रिपोर्टर दीप्ती सचदेवा ने फ्लाइट में लिया है जबकि इस दौरान क्रू मेंबर्स ने उन्हें कई बार चेतावनी दी और वापस अपनी सीट पर जाने के लिए कहा, लेकिन वो फिर भी डटी रहीं और लगातार उनसे सवाल पूछती रहीं। वीडियो देखने से पता चल रहा है कि तेजस्वी इस इंटरव्यू के लिए तैयार नहीं थे फिर भी रिपोर्टर ने उनसे कई सवाल पूछे। इस दौरान रिपोर्टर ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और तेजस्वी के बीच हुई मीटिंग को लेकर सवाल किए। तब उप मुख्यमंत्री ने कहा कि ये जगह बात करने के लिए सही नहीं है। उन्होंने कहा कि वो समय पर बात करेंगे क्योंकि यहां बात नहीं की जा सकती। रिपोर्टर द्वारा पूछे जाने पर कि नीतीश ने क्या कहा? तब इसपर उन्होंने कहा कि यहां बच्चे हैं इसलिए उन्हें परेशान ना करें। हालांकि रिपोर्टर ने इस दौरान महज दो मिनट के लिए बातचीत करने के लिए कहा, जिसे तेजस्वी यादव नकारते हुए नजर आए। वीडियो 19 जुलाई (2017) को रिपब्लिक ने अपने यूट्यूब चैनल पर अपलोड किया है। वहीं चैनल ने इंटरव्यू से जुड़ा एक ट्वीट किया है। जिसे ‘सुपर एक्सक्लूसिव: रिपब्लिक टीवी रिपोर्टर दीप्ती सचदेवा का परेशान तेजस्वी यादव से प्लेन में इंटरव्यू’ शीर्षक से शेयर किया गया है। हालांकि ट्वीट के बाद चैनल और रिपोर्टर की नाराजगी का सामना करना पड़ा है। कई यूजर्स ने क्रू मेंबर्स की बात ना मानने के लिए उन्हें कड़ी फटकार लगाई है।

ट्वीटर यूजर शुभम लिखते हैं, ‘रिपब्लिक क्या आप पागल हैं? मीडिया कुछ भी कर सकती है। आपके रिपोर्टर का ये बेकूफी भरा काम था।’ सवीता लिखती हैं, ‘अब मैंने सोचा तेजस्वी यादव ने रिपब्लिक को क्यों राष्ट्र विरोधी चैनल बताया। और तेजस्वी आपसे क्यों बात करें?’ अनुप लिखते हैं, ‘ये बहुत खराब है। वो कैमरे से बचने की कोशिश कर रहे थे। किसी को फ्लाइट में इस तरह का व्यवहार नहीं करना चाहिए।’ सुकेश कुमार लिखते हैं, ‘जब बार-बार तेजस्वी यादव और लालू यादव बोल रहे हैं कि रिपब्लिक का बॉयकॉट करते हैं। फिर भी बेशर्म की तरह आ जाते हो टीआरपी के चक्कर में।’ सुकेश अगले ट्वीट में लिखते हैं, ‘रिपब्लिक को पहले लालू यादव के नाम पर टीआरपी मिलती थी अब तेजस्वी यादव के नाम पर। भाजपा से पैसा ले रहो हो और टीआरपी आरजेडी से।’ डॉन लिखते हैं, ‘भाई अरनब तुम्हारे जैसा लठखोर नहीं देखा आजतक। जिसे रोज आरजेडी बॉयकॉट कर रहा है फिर भी बेशर्मों की तरह आ जाते हो।’