ताज़ा खबर
 

सेना की आलोचना करने पर भड़के अरनब गोस्वामी, पूछा- प्रकाश करात दंगाईयों से घिर जाएं तो क्या शांति संदेश लिखेंगे

मार्क्सवादी पार्टी के मुखपत्र पीपुल्स डेमोक्रेसी में छपे एक लेख में सेना को कटघरे में खड़ा किया गया है।

अरनब गोस्वामी। (फाइल)

वामपंथी इतिहासकार पार्थो चटर्जी द्वार अपने लेख में भारतीय सेना अध्यक्ष जनरल विपिन रावत की तुलना जनरल डायर से करने पर पूरे देश मे हंगामा मचा हुआ है। न्यूज वेबसाइट वायर के लिए 2 जून को लिखे गए लेख में चटर्जी ने लिखा है कि कश्मीर ‘जनरल डायर मोमेंट’ से गुजर रहा है। इसके बाद सोशल मीडिया में इसके तेज विरोध हुआ। इसके बाद कम्युनिस्ट पार्टी से जुड़े कई नेताओं ने सेना पर सवाल खड़े किए है। केरल के कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (मार्क्सवादी) की केरल इकाई के सेक्रेटरी कोडियारी बालाकृष्णन सेना पर रेप करने का आरोप लगाया था। इसके अलावा मार्क्सवादी पार्टी के मुखपत्र पीपुल्स डेमोक्रेसी में छपे एक लेख में सेना को कटघरे में खड़ा किया गया है। लेख में आरोप लगाया गया है कि सेना मोदी सरकार के विचारों पर चल रही है। यही नहीं मोदी सरकार पर सेना के राजनीतिक इस्तेमाल का आरोप भी लगाया गया है। इस पूरे विवाद पर बहस के दौरान अर्णब मार्क्सवादी पार्टी पर भड़क गए। खुद को सेना के और देश के साथ खड़ा हुआ बताते हुए उन्होंने पूछा कि इस ग्रह के किस दूसरे देश में राजनेता अपनी सेना की रोज आलोचना करते हैं। इसके बाद अर्णब ने पूछा कि अगर प्रकाश करात कभी दंगा कर रही भीड़ से घिर जाएं जिनके हाथ में पेट्रोल बम और पत्थर हो तो वो क्या करेंगे, क्या वो शांति लेख लिखेंगे।

इसके बाद बीजेपी के तरफ से शामिल सुधांशु त्रिवेदी और संघ विचारक राकेश सिन्हा ने सीपीआई पर हमेशा सेना विरोधी और चीन युद्ध के समय चीन को समर्थन करने का आरोप लगाया। इससे पहले अपने लेख में पार्थ चटर्जी ने अपने लेख में लिखा कि कश्मीर एक जीती हुई काॅलोनी जैसी हो गयी है। पार्थ ने कहा कि घाटी में हिंसा से निबटने के लिए सेना वही रणनीति अपना रही है, जैसी जनरल डायर ने अपनायी थी। कश्मीर में आज हालात उतने ही खराब हैं, जितने जनरल डायर के समय थे। उन्होंने कहा कि बहुत जल्द जनरल अयूब के शासन जैसे हालात भी देखने को मिलेंगे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 पार्थ चटर्जी विवाद: अंजना ओम कश्यप ने पकड़ा टीएमसी समर्थक का ‘झूठ’, लाइव डिबेट में कहा- यह स्वीकार्य नहीं है
2 योगी आदित्य नाथ की मंत्री स्वाति सिंह बांट रही थीं नोट, पत्रकार ने दिखाया तो सुननी पड़ी खरी-खोटी
3 किसानों की मौत को लेकर राहुल गांधी ने BJP पर साधा निशाना, यूजर्स बोले- 1984 में आपके पिता ने तो फूल बरसाए थे?