ताज़ा खबर
 

कश्मीर: सुरक्षाबल के जवान के साथ धक्कामुकी का वीडियो हुआ वायरल, लगाए गए भारत विरोधी नारे

वीडियो में सेना का एक जवान जा रहा है उसके पीछे स्थानीय लोगों की भीड़ भारत विरोधी नारे लगा रही है।

कश्मीर में सर्च ऑपरेशन करते सेना के जवान। ( Photo Source: Indian Express/Shuaib Masoodi)

जम्मू कश्मीर में कानून व्यवस्था की स्थिति मीडिया में बनी हुई। स्थानीय लोगों और सुरक्षाबलों में झड़प अब कोई नहीं बात नहीं रह गई है। इसी तरह का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस वीडियो में सेना का एक जवान जा रहा है उसके पीछे स्थानीय लोगों की भीड़ भारत विरोधी नारे लगा रही है। भीड़ “गो इंडिया गो बैक” के नारे लगाते हुए जवान के पीछे चल रही है। तभी भीड़ में से एक जवान निकलकर जवान पर हमला करता है। ये वीडियो किस जगह का है और कब का ये तो स्पष्ठ नहीं हो पाया है। ना ही इस बात पुष्टि हो पाई है कि वीडियो फर्जी है या प्रमाणिक। लेकिन सोशल मीडिया पर ये वीडियो देखने के बाद लोगों ने बाढ़ के समय सेना से मदद मांगते कश्मीरियों और कश्मीर के नेताओं को जरूर इस पर सवाल किए। वैसे पिछले कुछ दिनो में कश्मीर की नाजुक होती स्थिति पर तरह तरह की बयान सामने आ रहे हैं। पी चिदंबरम के बाद फारुख अब्दुल्ला ने भी एक चैनल से बात करते हुए कहा कि कश्मीर की स्थिति 80 के दशक से भी बुरी स्थिति है।

अगर भारत सरकार नहीं जागी तो कश्मीर भारत के हाथ से निकल सकता है। इससे अलग श्रीनगर उपचुनाव में हिंसा को देखते हुए चुनाव आयोग ने अनंतनाग में होने वाले उपचुनाव को टालने का निर्णय लिया है। श्रीनगर में उपचुनाव के दौरान जबरदस्त हिंसा देखने को मिली थी। कई जगह चुनाव आयोग की टीम और सुरक्षा बलों के जवानों को जबरदस्त विरोध का सामना करना पड़ा। मतदान के दिन हिंसा के दौरान 8 लोगों की जान भी चली गई। इससे पहले साल 2014 के आम चुनाव में इस सीट पर 26 प्रतिशत मतदान हुआ था। वहीं साल 1989 के चुनाव में नेशनल कांफ्रेंस के मोहम्मद शफी भट्ट ने निर्विरोध इस सीट पर जीत हासिल की थी ।  इससे पहले इस सीट पर सबसे कम मतदान 11.93 प्रतिशत 1999 में हुआ जब उमर अब्दुल्ला ने सीधे मुकाबले में महबूबा मुफ्ती को शिकस्त दी थी ।

जम्मू-कश्मीर: कुपवाड़ा जिले में आतंकियों से हुई मुठभेड़ में मारी गई 6 साल की बच्ची, भाई जख्मी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App