ताज़ा खबर
 

झारखंड की घटना पर फूटा लेखक चेतन भगत का गुस्सा, पूछा- गाय की खाल निकालना सही तो गोमांस खाना गलत कैसे?

। विरोधी पार्टियां पीएम मोदी पर हमला करते हुए कह रही हैं कि इस तरह से कानून हाथ में लेने वाले गोरक्षकों को सरकार और संघ का समर्थन प्राप्त है इसीलिए वो पीएम के भाषण के बाद भी ऐसा करने से बाज नहीं आ रहे।

chetan bhagat, chetan bhagat on twitter, chetan bhagat 10 million follower, chetan bhagat twitter followers, chetan bhagat twitter reactions, chetan bhagat trolling, chetan bhagat trolled, hindi news, trending news, jansattaलेखक चेतन भगत। फोटो सोर्स- यूट्यूब

गुरुवार 29 जून को झारखंड में बीफ ले जाने के शक में एक मुस्लिम शख्स की भीड़ द्वारा पीट-पीट कर हत्या किये जाने से आहत मशहूर लेखक चेतन भगत ने तथाकथित गोरक्षकों पर अपनी भड़ास निकाली है। चेतन भगत ने ऐसे लोगों से पूछा है कि क्या वो लोग अपनी भी जान लेंगे, क्योंकि वो भी तो गाय के चमड़े से बने जूते पहनते हैं। दरअसल गुरुवार को प्रधानमंत्री ने अहमदाबाद के साबरमती आश्रम से कहा कि गोरक्षा के नाम पर हिंसा करना गलत है और ऐसा करने वालों को माफ नहीं किया जाएगा। प्रधानमंत्री के इस बयान के कुछ घंटों के अंदर ही झारखंड के रामगढ़ जिले में अलीमुद्दीन नाम के एक शखअस को अपनी मारुती वैन में बीफ ले जाने के शक में भीड़ी ने पीट-पीट कर हत्या कर दी। पुलिस के मुताबिक अलीमुद्दीन उर्फ असगर अंसारी एक मारुति वैन में ‘प्रतिबंधित मांस’ ले जा रहा था। सूत्रों ने कहा कि लोगों के एक समूह ने बाजरटांड गांव में उसे रोका और उस पर बेरहमी से हमला किया। उसके वैन को आग के हवाले कर दिया गया। पुलिसकर्मियों ने उसे भीड़ से बचाया और अस्पताल में भर्ती कराया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

इस घटना पर चेतन भगत ने अपनी तीखी प्रतिक्किया देते हुए ट्वीट किया। चेतन भगत ने अपने ट्वीट में लिखा- क्या बीफ के नाम पर किसी की भी जान ले लेने वाले खुद की भी जान लेंगे, क्योंकि वो भी तो गाय के चमड़े के बने जूते पहनते हैं। या ऐसा नहीं करेंगे क्योंकि गाय की खाल उधेड़ना तो ठीक है लेकिन उसका मांस खाना गलत।

 

आपको बता दें कि झारखंड की इस घटना से पूरे देश में आक्रोश का माहौल है। विरोधी पार्टियां पीएम मोदी पर हमला करते हुए कह रही हैं कि इस तरह से कानून हाथ में लेने वाले गोरक्षकों को सरकार और संघ का समर्थन प्राप्त है इसीलिए वो पीएम के भाषण के बाद भी ऐसा करने से बाज नहीं आ रहे। विरोधी दलों का ये भी कहना है कि इस तरह की ज्यादातर घटनाएं भाजपा शाषित राज्यों में ही हो रही हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बीजेपी के संबित पात्रा पर भड़क गईं महिला छात्रनेता, कहा- जिन लोगों ने गांधी को मार दिया वही आज उनके नाम की दुहाई दे रहे हैं
2 देखिए क्या हुआ जब पाकिस्तानी न्यूज चैनल ने ऋषि कपूर को फोन कर पूछ लिया- आपने भारत को पाक का बाप क्यों कहा था?
3 खुले में पेशाब करने वाले केंद्रीय मंत्री राधामोहन स‍िंह के समर्थन में आए कई लोग, नरेंद्र मोदी पर भी साधा न‍िशाना
ये पढ़ा क्या?
X