scorecardresearch

बीजेपी में कैसे शामिल हो सकते हैं शिवपाल यादव? अपर्णा यादव ने बताया ऐसा तरीका

मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) की छोटी बहू ने यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) की जमकर तारीफ की।

Aparana yadav| Aparana yadav Akhilesh Yadav| Akhilesh Yadav vs Aparna Yadav|
बीजेपी नेता अपर्णा यादव (फोटो सोर्स – सोशल मीडिया)

समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) की छोटी बहू व बीजेपी नेत्री अपर्णा यादव (Aparna Yadav) मीडिया के सामने खुलकर बोलती नजर आती हैं। हाल में ही यूपी के नोएडा में एक निजी कार्यक्रम में पहुंचीं अपर्णा यादव से मीडिया कर्मियों द्वारा कई तरह के सवाल किए गए। उन्होंने प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल यादव (Shivpal Yadav) के विषय पर भी पूछे गए एक सवाल का जवाब दिया।

शिवपाल पर कही यह बात : अपर्णा यादव से जब मीडिया कर्मियों ने शिवपाल यादव को लेकर सवाल किया तो उन्होंने कहा कि अगर वह भारतीय जनता पार्टी के साथ आना चाहते हैं तो उन्हें शीर्ष नेतृत्व के साथ बातचीत करनी चाहिए। वहीं हाल में ही शिवपाल सिंह यादव द्वारा यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ की तारीफ किए जाने पर अपर्णा ने कहा कि वह तारीफ के लायक हैं, इसलिए हर कोई उनकी तारीफ करता है।

रामराज्य में साधु ही संभालेगा कुर्सी : अपर्णा यादव ने मीडिया से बातचीत में कहा कि भाजपा ने हमेशा से ही रामराज्य की बात ही है और राम राज्य में इस बात का जिक्र किया गया है कि जो राजा पद है, उसे हमेशा एक साधु ही संभालेगा। बीजेपी की तारीफ करते हुए अपर्णा यादव की ओर से कहा गया कि योगी आदित्यनाथ को दोबारा मुख्यमंत्री बनाकर बीजेपी ने अपनी शर्त पूरी की है।

आजम खां पर साधा निशाना : मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू ने समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता व विधायक आजम खां (Azam Khan) पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्हें राजनीति करने से पहले अपने ऊपर लगे दाग और मुकदमों पर ध्यान देना चाहिए। इसके साथ ही अपर्णा ने कहा, ‘ उन्हें इस बात पर गौर करना चाहिए कि उन्होंने पद पर रहते हुए किस तरह के गलत काम किए हैं।’ यूपी की कानून व्यवस्था की तारीफ करते हुए अपर्णा यादव ने कहा कि यहां पर अपराधियों के लिए कोई जगह नहीं है।

सोशल मीडिया यूजर्स के रिएक्शन : @Bond007Dr नाम के टि्वटर हैंडल से लिखा गया कि क्या यह राज्यसभा की सीट पाने के लिए आवेदन है? देश प्रेमी नाम के एक यूजर ने कमेंट किया, ‘ पॉलिटिक्स में कोई भी योगी, साधु, बाबा नहीं होता। सब सत्ता लोभी होते हैं। अतुल कुमार सेठ नाम के एक यूजर ने लिखा – रामचंद्र जी साधु नहीं थे। वह एक पारिवारिक आदमी थे, आप लोग व्हाट्सएप यूनिवर्सिटी पर उल्टा सीधा ज्ञान ना फैलाएं। रामायण में इस तरीके का उल्लेख कहीं पर भी नहीं है।

पढें ट्रेंडिंग (Trending News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट